महोबा: डॉक्टरों की लापरवाही से मरीजों की जान पर आफत

Author: Hindi Khabar
Updated On : 2016-10-15 20:17:45
महोबा: डॉक्टरों की लापरवाही से मरीजों की जान पर आफत

महोबा। बुंदेलखंड का महोबा जनपद चिकनगुनिया, डेंगू और वायरल बुख़ार से त्रस्त है, लेकिन जिला अस्पताल के सरकारी डॉक्टर इन सबसे बेपरवाह अपने बनाए समय से ड्यूटी पर आते और जाते हैं। डॉक्टरों की लापरवाही का आलम यह है कि कई बार दूर-दराज़ से आए मरीज़ों को वापस लौटना पड़ता है। वहीं कई बार मरीज डॉक्टरों के ना मिलने पर इलाज के लिए झोलाछाप डॉक्टरों के चक्कर में पड़कर पैसे तो बरबाद कर ही रहे हैं साथ ही जान से भी हाथ धो रहे हैं। इस पर सीएमओ ने सफाई देते हुए कहा कि डॉक्टर अगर ड्युटी टाईम में नहीं मिलते तो वे राउंड पर होते हैं।

आपको बता दें कि महोबा जनपद कई दिनों से चिकनगुनिया, डेंगू और वायरल बुख़ार से बेहाल चल रहा है। इन बीमारियों के जिले में फैलने से आए दिन लोग इसके शिकार होकर अस्पताल में भर्ती हो रहे है। अस्पताल में लगातार मरीजों की संख्या बढ़ रही है लेकिन जिला अस्पताल के सरकारी डॉक्टर इन सबसे बेखबर अपने ही तरीके से अस्पताल आते और जाते हैं। डाक्टरों की इस लापरवाही की वजह से दूर-दराज़ से अस्पताल आने वाले मरीजों को काफी परेशानी उठानी पड़ रही हैं। मरीजों को बीना उपचार के ही वापस लौटना पड़ता है। इस वजह से मरीज झोलाछाप डॉक्टरों के चक्कर में फंस कर पैसे के साथ जान भी गवां रहे हैं।

वहीं जब इस बारे में मुख्य चिकित्सा अधिकारी से पूछा गया तो उन्होंने सफाई देते हुए कहा कि डॉक्टरों के ड्यूटी का समय सुबह 8 बजे से 2 बजे तक है लेकिन डॉक्टर अगर केबिन में ना मिले तो वो राउंड पर होते हैं। साथ ही कहा कि अस्पताल में चिकित्सकों की भारी कमी की समस्या भी बनी हुई है।

 


बुंदेलखंड पर शीर्ष समाचार