भारत बंद के मुद्दे पर ममता बनर्जी ने लिया यू-टर्न

Edited by: Editor Updated: 27 Nov 2016 | 06:13 PM
detail image

नई दिल्ली। नोटबंदी के विरोध में एकजुट नजर आ रहा विपक्ष भी अब बंटता दिखाई दे रहा है। 28 नवंबर को नोटबंदी के विरोध में आक्रोश दिवस के आह्वान से भी कुछ पार्टियों ने खुद को अलग कर लिया है।

ममता बनर्जी ने तो बाकायदा ट्वीट कर कहा कि विपक्ष के बैठक में आक्रोश दिवस पर कोई बात नहीं हुई थी इसलिए उनकी पार्टी इस बंद में शामिल नहीं होगी।

यह भी पढ़ें- नोटबंदी के खिलाफ 'भारत बंद' को नहीं मिला व्यापारियों का साथ

पीएम मोदी के धुर विरोधी माने जाने वाले बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने नोटबंदी के कदम का समर्थन करते हुए कहा था कि नोटबंदी का यह कदम कोई साधारण कदम नहीं, बहुत ‘साहसिक कदम’ है।

लेकिन इसे लागू करने के लिए तैयारी और की गई होती तो किसी को कठिनाई नहीं होती। नीतीश के समर्थन के बाद जेडीयू ने भी आक्रोश दिवस से भी खुद को अलग कर लिया है।

यह भी पढ़ें- विपक्ष के भारत बंद के आह्वान के खिलाफ आए नीतीश कुमार

बता दें कि इससे पहले ममता बनर्जी ने केंद्र सरकार को नोटबंदी को लेकर चेतावनी दी थी कि अगर तीन दिनों के अंदर नोटबंदी का फैसला वापस नहीं लिया गया तो 28 नवंबर से विरोध में आंदोलन शुरू किया जाएगा। हालांकि उन्होंने इसका खुलासा नहीं किया था कि यह आंदोलन किस तरह का होगा।