Disable ADBlock and Click Here to Reload The Page

EVM विवाद पर बोली ममता, ऑल पार्टी मीटिंग बुलाए चुनाव आयोग

Edited By: Hindi Khabar
Updated On : 2017-03-18 10:00:26
EVM विवाद पर बोली ममता, ऑल पार्टी मीटिंग बुलाए चुनाव आयोग
EVM विवाद पर बोली ममता, ऑल पार्टी मीटिंग बुलाए चुनाव आयोग

कोलकाता। ईवीएम से छेड़छाड़ के आरोप लगाने वालों में ममता बनर्जी का नाम भी जुड़ गया है। उन्होंने कहा है कि चुनाव आयोग को इस मसले पर ऑल पार्टी मीटिंग बुलानी चाहिए। इससे पहले मायावती और अरविंद केजरीवाल भी चुनावों में ईवीएम से छेड़छाड़ का आरोप लगा चुके है।

पांच राज्यों के चुनाव नतीजों के बाद ईवीएम से छेड़छाड़ के आरोप का मामला गरमाता जा रहा है। ममता ने सुब्रमण्यम स्वामी के वीडियो का हवाला दिया और वीडियो क्लिप रिपोर्टर्स को दिखाई। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, ममता बनर्जी ने बीजेपी नेता सुब्रमण्यम स्वामी के उस वीडियो टेप का हवाला दिया, जिसमें स्वामी ने ईवीएम से छेड़छाड़ हो सकने की बात कही थी।

यह भी पढ़ें-कैशलेस से फेसलेस हो गई है मोदी सरकारः ममता बनर्जी

ममता ने कहा कि मैं कुछ नहीं कह रही हूं, लेकिन स्वामी कानून के अच्छे जानकार हैं और इसलिए वह जो कुछ कह रहे हैं, उसे समझा जाना चाहिए और उसकी जांच की जानी चाहिए। कोई माने या न माने, यह उनकी इच्छा है, लेकिन चुनाव आयोग को ऑल पार्टी मीटिंग बुलानी चाहिए।

ममता ने कहा कि मैंने चुनाव आयोग का वह बयान सुना है, जिसमें उसने कहा है कि ईवीएम से छेड़छाड़ नहीं हो सकती है, लेकिन मैंने स्वामी का वीडियो भी देखा है, जिसमें वह कह रहे हैं कि ऐसा किया जा सकता है। ममता ने कहा कि इसीलिए उन्हें भी यह यकीन है कि ईवीएम से छेड़छाड़ की जा सकती है।

यह भी पढ़ें-अखिलेश यादव ही साइकिल के असली हकदार : ममता बनर्जी

वीडियो में सुब्रमण्यम स्वामी को यह कहते हुए देखा जा सकता है कि जापान में ईवीएम बने थे, लेकिन वहां चुनाव में मत पत्रों का ही इस्तेमाल होता है, क्योंकि मशीनों से छेड़छाड़ की जा सकती है। स्वामी यह भी कहते हैं कि अमेरिका और जर्मनी जैसे देश ईवीएम की बजाए मत पत्रों का ही इस्तेमाल करते हैं।

बता दें कि इससे पहले बसपा सुप्रीमों मायावती ने आरोप लगाया था कि यूपी विधानसभा चुनावों में बीजेपी की जीत पक्की करने के लिए ईवीएम को 'मैनेज' किया गया था। उसके बाद दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने भी कहा था कि ईवीएम से पंजाब में छेड़छाड़ की गई थी, जिससे आम आदमी पार्टी के 20-25% वोट अकाली दल और बीजेपी अलायंस को ट्रांसफर हो गए।


राजनीति पर शीर्ष समाचार


x