बीजेपी को हराने के लिए मायावती ने मुस्लिम समाज से मांगा साथ

Edited by: Editor Updated: 20 Nov 2016 | 10:09 PM
detail image

नई दिल्ली। मोदी सरकार द्वारा नोटबंदी के बाद बीएसपी सुप्रीमो मायावती बेहद आक्रामक तेवर में हैं। मायावती इन दिनों केंद्र सरकार और बीजेपी को घेरने में कोई कसर नहीं छोड़ी रही हैं। यूपी में कुछ महीने बाद विधानसभा चुनाव होने हैं। नतीजों को लेकर आत्मविश्वास से भरपूर दिख रहीं मायवती का मानना है कि यूपी में हम सरकार बनाने जा रहे हैं।

वहीं मायावती मुस्लिम समाज को समझाने में जुटी हैं कि अगर वे राज्य में बीजेपी को सत्ता में आने से रोकना चाहते हैं, तो उन्हें बीएसपी के साथ आना होगा क्योंकि बीजेपी को बीएसपी ही सत्ता में आने से रोक सकती है। आपको बता दें यूपी में मुस्लिम वोटर्स बेहद निर्णायक होते हैं और दलित + मुस्लिम गठजोड़ तो एक नई राजनीतिक इबारत भी लिख सकता है।

मायावती का मानना है कि बीजेपी और एसपी दोनों को यूपी में पराजय का अहसास हो गया है लेकिन, वोटर्स इनके भ्रमजाल में आने वाले नहीं हैं। बीएसपी अपनी नीतियों और सिद्धांतों पर चुनाव लड़ती है।

उन्होंने कहा है कि समाजवादी पार्टी के आंतरिक संकट पर उनका नजरिया है कि दिखावे के लिए भले ही यादव परिवार एक हो गया हो, लेकिन अखिलेश और शिवपाल के पाले बंटे हुए हैं।