नोटबंदी पर पीएम मोदी ने मांगी जनता की राय, सर्वे में शामिल होने की अपील

Author: Hindi Khabar
Updated On : 2016-11-22 15:29:54
नोटबंदी पर पीएम मोदी ने मांगी जनता की राय, सर्वे में शामिल होने की अपील

नई दिल्ली। नोटबंदी पर विपक्ष के तीखे विरोध का सामना कर रहे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अब सीधे देश की जनता की राय मांगी है। मोदी ने ट्विटर पर देश के आम लोगों से अपील की है कि वे नरेन्द्र मोदी ऐप के जरिए नोटबंदी के फैसले पर अपना सीधा नजरिया उन तक पहुंचाएं। उन्होंने एक सर्वे के जरिए अपनी राय बताने को कहा है।

यह भी पढ़ें- बीजेपी संसदीय दल की बैठक में फिर भावुक हुए पीएम मोदी

प्रधानमंत्री के इस कदम को संसद में लगातार हंगामा कर रहे विपक्ष को जवाब देने की कोशिश के तौर पर भी देखा जा रहा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने ट्विटर अकाउंट से सुबह 11.25 बजे ट्वीट किया, 'करेंसी नोटों के संबंध में लिए गए फैसले पर मैं आपका शुरुआती नजरिया जानना चाहता हूं। नरेन्द्र मोदी एप पर सर्वे में हिस्सा लें।'

बता दें कि इस एप के सर्वे में हिस्सा लेने वालों से 10 सवाल पूछे जा रहे हैं। ये सवाल हैं-

1. नोटबंदी पर सरकार के फैसले पर आप क्‍या सोचते हैं?

2. क्‍या आपको लगता है कि भारत में कालाधन है?

3. क्‍या आपको लगता है कि भ्रष्‍टाचार और कालेधन के खिलाफ लड़ना चाहिए?

4. भ्रष्‍टाचार के खिलाफ सरकार के प्रयास पर क्‍या सोचते हैं?

5. नोटबंदी के फैसले पर आप क्‍या सोचते हैं?

6. क्‍या नोटबैन से आतंक पर लगाम लगेगी, नोटबंदी से भ्रष्‍टाचार, कालाधन और आतंक रुकेगा?

7. नोटबंदी के फैसले से उच्‍च शिक्षा, रियल एस्टेट आम आदमी तक पहुंच सकेगी?

8. नोटबंदी पर असुविधा को कितना महसूस किया?

9. भ्रष्‍टाचार के विरोधी अब इसके समर्थन में लड़ रहे हैं?

10. क्‍या आप कोई सुझाव शेयर करना चाहते हैं?

गौरतलब है कि कुछ ही मिनटों में प्रधानमंत्री के इस ट्वीट को सैंकड़ों लोगों ने रिट्वीट किया। देखते ही देखते, नरेन्द्र मोदी एप पर इतनी भारी संख्या में लोग आ गए कि एप की स्पीड डाउन हो गई।

यह भी पढ़ें- नोटबंदीः विरोध कर रही शिवसेना को चंदे में मिला 87 करोड़ रुपए

बता दें कि विपक्ष लगातार नोटबंदी को लेकर सरकार पर हमलावर है। संसद के शीतकालीन सत्र में पांचवें दिन भी कामकाज ठप है। ऐसे में मंगलवार को मोदी ने बीजेपी संसदीय दल के साथ विपक्ष पर पलटवार की रणनीति बनाई। साथ ही अब इस सर्वे के जरिए भी पीएम मोदी ने सीधे जनता तक पहुंचने की कोशिश कर, विपक्ष को जवाब दिया है।


राष्ट्रीय पर शीर्ष समाचार