ककरहिया गांव को गोद लेंगे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

Edited by: Editor Updated: 15 Oct 2016 | 02:31 PM
detail image

वाराणसी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने संसदीय क्षेत्र बनारस में सांसद आदर्श ग्राम योजना के तहत तीसरा गांव ककरहिया को गोद लेंगे। इस बात की जानकारी गांव के प्रधान रंजीत पटेल ने दी, जिसके बाद गांव में खुशी का माहौल है।

ककरहिया गांव की बात करें तो, यहां पर मूलभूत सुविधाएं जैसे पानी, बिजली, शौचालय और सड़क की बड़ी समस्या है। यहां की आबादी लगभग 2600 के करीब है, जबकि 419 परिवार हैं। गांव पहलवानों और फूलों की खेती के लिए जाना जाता है। गांव में सिर्फ एक ही प्राथमिक स्‍कूल है।

गांव के लोगों का कहना है कि यदि महिला कॉलेज खुल जाता है तो बच्चों को पढ़ाना आसान हो जाएगा। गांव में पटेल आबादी ज्यादा है।

गांव को मोदी द्वारा गोद लिए जाने के बारे में जानकारी देते हुए गांव के प्रधान रंजीत पटेल का कहना है, "गांव में पहले पहलवानी का क्रेज था जो अब धीरे-धीरे खत्म हो रहा है। रामाश्रय, वीरेंदर, सुभाष जैसे कुछ राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय खिलाड़ी बगल के भट्टी गांव के हैं जो ककरहिया गांव में कुश्‍ती का अभ्यास किया करते थे, लेकिन अब नौकरी कर रहे हैं।

गौरतलब है कि इससे पहले पीएम मोदी दो साल में दो गांव गोद ले चुके हैं। मोदी ने साल 2015 में जयापुर और नागेपुर गांवों को गोद लिया था।