Disable ADBlock and Click Here to Reload The Page

समीक्षा: रवीना की दमदार अदाकारी की कमजोर कहानी है 'मातृ'

Edited By: Hindi Khabar
Updated On : 2017-04-21 06:13:58
समीक्षा: रवीना की दमदार अदाकारी की कमजोर कहानी है 'मातृ'
समीक्षा: रवीना की दमदार अदाकारी की कमजोर कहानी है 'मातृ'

मुबंई। अश्तर सईद के निर्देशन में रेप जैसे संवेदनशील मुद्दे पर बनी रवीना टंडन की मातृ एक मां और बेटी की कहानी है। दिल्ली की पृष्ठभूमि में बनी इस फिल्म में देश में महिलाओं के खिलाफ बढ़ती हिंसा के मामले को दिखाया गया है।

फिल्म में रवीना टंडन विद्या नाम की एक महिला के किरदार में हैं, जिसकी दुनिया उसका परिवार है और इस दुनिया में तूफान आता है जब उसकी बेटी का गैंगरेप हो जाता है। इस जुर्म में चीफ मिनिस्टर का बेटा शामिल है। इस वजह से मामले में इंसाफ पाना विद्या के लिए एक बड़ी चुनौती बन जाता है। बेटी की मौत और पति के घर से निकालने के बाद विद्या सबकुछ अपने हाथों में लेने का फैसला करती है। इसके बाद फिल्म का आगे का प्लॉट तैयार होता है।

यह भी पढ़ें-फिल्म समीक्षाः बेगम जान में है जान पर फिर भी गड़बड़ हो गई बात

दरअसल, फिल्म का ट्रेलर देखकर ही आपको अंदाज़ा हो जाता है की यह फ़िल्म एक बदले की कहानी है। फिल्‍म के गाने सुनने में तो अच्‍छे लगते हैं, लेकिन इसके बची के सीन की अवधि कम होती तो बेहतर होता। फिल्‍म में इन्‍हें मोन्टाजेस की तरह इस्तेमाल किया गया है जहां इनके जरिए एक मां का दर्द बयां किया गया है। एक और बात आप इसे फिक्शन की तरह देखें तो फिल्‍म में कोई कमी नजर नहीं आएंगी और अगर आपने इसमें लॉजिक लगाया तो हो सकता है आपकों इसमें कानूनी दांव-पेच की कमियां दिखाई दे सकती हैं।

इंटरवल से बढ़ते हुए अंत तक आधा दर्जन से ज्यादा बलात्कारियों और राज्य के मुख्यमंत्री की हत्या होती है। हत्याओं का अंदाज ऐसा कि उन्हें अंजाम देती नायिका पर अंगुली तक नहीं उठती। अपराधी-पुलिस-राजनीति के गठबंधन में यहां पुलिस कमजोर और हताश है। मातृ में न तो कथा की चमक है और न पटकथा का शिल्प। रह जाती हैं रवीना टंडन।

यह भी पढ़ें-बहुप्रतीक्षित 'सचिन- अ बिलियन ड्रीम्स' का ट्रेलर रिलीज!

एक दशक पहले पारी समेट चुकीं रवीना दूसरी पारी में अपने अभिनय से न संवेदना जगाती हैं और न ऐक्शन से थ्रिल। फिल्म के बेहद निराशाजनक होने की वजह सेंसर की कैंची को बताया जा सकता है, परंतु जो सामने आता है वह बांधने में नाकाम है।

अमेरिकी फिल्म निर्माता-लेखक माइकल पैलिको ने 'मातृ' लिखी है। निर्देशन किया है अश्तर सईद ने। फिल्म में रवीना टंडन के अलावा मधुर मित्तल, दिव्या जग्दाले, शैलेंद्र गोयल, अनुराग अरोड़, शहीम खान, रुशद राणा अहम रोल में हैं। इस फिल्म को मेरी तरफ से डेढ़ स्टार।

-दीपक दुआ


मनोरंजन पर शीर्ष समाचार


x