Disable ADBlock and Click Here to Reload The Page

मुस्लिम महिला की पीएम से गुहार, समान नागरिक संहिता लागू करें

Edited By: Editor
Updated On : 2016-10-23 09:11:57
मुस्लिम महिला की पीएम से गुहार, समान नागरिक संहिता लागू करें
मुस्लिम महिला की पीएम से गुहार, समान नागरिक संहिता लागू करें

पुणे। तीन तलाक के खिलाफ मुहिम छेड़ने वाली एक 18 वर्षीय मुस्लिम युवती ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से समान नागरिक संहिता को तत्काल लागू करने का आग्रह किया है। युवती ने अपने पत्र में लिखा है कि इस कुप्रथा से मुस्लिम महिलाओं की कई पीढ़िया 'तबाह' हो चुकी है।

आपको बता दें कि अर्शिया की शादी 16 वर्ष की आयु में एक अमीर सब्जी कारोबारी मोहम्मद काजिम बगवान से हुई थी। शादी को हुए दो वर्ष भी नहीं हुए थे कि अर्शिया के पति ने उसे कागज पर तीन बार तलाक लिखकर तलाक दे दिया। काजिम का कहना था कि उसके दिल में अर्शिया के लिए कोई जगह नहीं है। उसके बाद काजिम ने अर्शिया उसके 8 महीने के बच्चे के साथ घर से निकाल दिया।

मीडिया से बात करते हुए बारामती की रहने वाली अर्शिया ने कहा, मैं पीएम से अनुरोध करती हूं कि वो मेरी जैसी महिलाओं की मदद करें और इस तीन तलाक की प्रथा को खत्म करें जिसने अनगिनत महिलाओं की जिंदगी तबाह कर दी है।

वहीं अर्शिया का कहना है कि उसे पति की तरफ से तीन तलाक के लिए नोटिस मिला था जिसे मैंने अस्वीकार कर दिया। अर्शिया बताती हैं कि इस फैसले को मैंने कोर्ट में चुनौती देने का फैसला किया है।


राष्ट्रीय पर शीर्ष समाचार