पैसा मेरा, खाता मेरा, तो लाइन में लगकर इंतजार क्यों करें: सिब्बल

Edited by: Editor Updated: 12 Nov 2016 | 09:51 PM
detail image

नई दिल्ली। वरिष्ठ कांग्रेसी नेता कपिल सिब्बल ने 500 और 1000 के नोटों पर बैन लगाने पर मोदी सरकार की आलोचना की है। सिब्बल ने कहा कि पैसा मेरा है, खाता मेरा है तो हम लाइन में खड़ा होकर इंतजार क्यों करे?

कपिल सिब्बल ने मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि 500 और 1000 के नोटों के विमुद्रीकरण का फैसला पूरी तरह सोच विचार कर नहीं किया गया है। ये फैसला उतावलेपन में लिया गया है। काले धन को दूसरे तरीके से सफेद किया जा रहा है।

ये भी पढ़ें- नोटबंदी से बौखलाए दाऊद ने अपने ही साथी को जड़ा थप्पड़

सिब्बल ने आगे कहा कि देश को अराजकता की स्थिति में छोड़कर मोदी खुद जापान की यात्रा पर निकल लिए हैं। ऐसे संकट की घड़ी में प्रधानमंत्री को देश में होना चाहिए था।

सिब्बल ने आम लोगों की समस्याओं की आड़ में मोदी पर निशाना साधते हुए कहा कि सरकार के इस कदम से लोगों को असुविधा झेलनी पड़ रही है। बैंको और एटीएम के सामने जमा करने या पुराने नोटों को बदलकर नए नोट लेने के लिए लंबी लंबी कतारें लगी हुई हैं।

ये भी पढ़ें- दूसरों का पैसा अपने खाते में जमा करवाना पड़ सकता है महंगा

सिब्बल ने तो यहां तक कह दिया कि नरेंद्र मोदी ने प्रधानमंत्री बनने से पहले जितने भी पैसे खर्च किए, उसकी जांच के लिए एक जांच आयोग गठित किया जाए।