रामलीला में नवाजुद्दीन नहीं निभा सके मारीच का किरदार

Edited by: Editor Updated: 07 Oct 2016 | 01:48 PM
detail image

मुंबई । हाल ही में अपनी भाभी के साथ बुरे व्यवहार के लिए सुर्खियों में रहे नवाजउद्दीन सिद्दीकी का बचपन का सपना पूरा नहीं हो सका। हालांकि नवाज ने हार नहीं मानी है और एक दिन इस सपने को पूरा करने का वादा खुद से किया है।

खबरों कि मामने तो, नवाज अपने होम टाउन बुढ़ाना में होने वाली रामलीला में भाग लेना चाहते थे। रामलीला में भाग लेने का इस बार उन्हें ये मौका मिल भी गया। नवाज रामलीला में मारीच का किरदार निभाने वाले थे। माइथॉलॉजी के मुताबिक मारीच राक्षस था और सोने के हिरण का रूप लेकर उसने सीता को किडनैप करने में उसने रावण की मदद की थी। इस रोल के लिए नवाज रामलीला मंडली के साथा रिहर्सल भी कर रहे थे, लेकिन कुछ संगठनों ने उनके राम लीला में भाग लेने का विरोध किया, जिसके चलते नवाज मारीच नहीं बन सके।

नवाज ने इस रिहर्सल का वीडियो सोशल मीडिया में पोस्ट किया है और लिखा है- मेरे बचपन का सपना पूरा नहीं हो सका, लेकिन अगले साल में राम लीला में भाग जरूर लूंगा। विरोध करने वाले स्थानीय संगठनों का आरोप है कि नवाज पर हाल ही में अपनी भाभी को प्रताड़ित करने का आरोप लगा है और वो रामलीला में भाग लेकर अपनी बिगड़ी छवि को सुधारना चाहते हैं। इसके अलावा पिछले 50 सालों में किसी मुस्लिम ने रामलीला में भाग नहीं लिया, तो अब अनुमति क्यों दी जाए। संगठन ने इसको लेकर पुलिस से भी मुलाकात की, जिसके बाद लॉ एंड ऑर्डर बनाए रखने के लिए पुलिस ने राम लीला पदाधिकारियों को नवाजउद्दीन को शामिल ना करने की हिदायत दी।