एनएसजी में भारत की सदस्यता के रुख पर कोई बदलाव नहीं: चीन

Edited by: Editor Updated: 07 Nov 2016 | 07:16 PM
detail image

नई दिल्ली। चीन ने न्यूक्लियर सप्लायर्स ग्रुप (NSG) में भारत की मेंबरशिप को पर एक बार फिर सख्त रुख अपनाते हुए कहा है कि उनके स्टैंड में अभी कोई बदलाव नहीं आया है। चीन का कहना है कि एनएसजी में भारत को सदस्यता तभी मिल सकती है जब एनपीटी (नॉन-प्रोलिफिरेशन ट्रीटी) देशों को लेकर रूल्स को तय किए जाएं अथवा भारत एनपीटी पर हस्ताक्षर करे।

चीन का साफ कहना है कि वह ऐसा समाधान चाहते हैं, जो सभी नॉन- एनपीटी देशों पर लागू हो। गौरतलब है एनएसजी की बैठक आगामी शुक्रवार को वियना में होनी है।

चीनी फॉरेन मिनिस्ट्री के स्पोक्सपर्सन लु कांग ने कहा कि भरत की मेंबरशिप पर हमारा नजरिया साफ है। भारत की एंट्री नॉन-प्रोलिफिरेशन ट्रीटी (एनपीटी) पर साइन के बाद ही हो सकती है। 

उल्लेखनीय है गत 4 नवंबर को हैदराबाद में एनएसए अजीत डोभाल और चीन के एनएसए यांग जिसी के बीच इस मुद्दे पर बातचीत का कोई नतीजा नहीं निकला था।