नोटबंदीः रेटिंग एजेंसियों ने घटाया भारत के GDP ग्रोथ का अनुमान

Author: Hindi Khabar
Updated On : 2016-11-28 18:05:15
नोटबंदीः रेटिंग एजेंसियों ने घटाया भारत के GDP ग्रोथ का अनुमान

नई दिल्ली। मोदी सरकार के नोटबंदी के फैसले के बाद रेटिंग फर्म मॉर्गन स्टैनली और बैंक ऑफ अमेरिका मेरिल लिंच ने 2016 में भारत के जीडीपी ग्रोथ के अनुमान को 7.7 पर्सेंट से घटाकर 7.4 पर्सेंट कर दिया है।

इस कटौती को नोटबंदी के बाद कारोबार में आई गिरावट और मंदी के माहौल का नतीजा माना जा रहा है। यही नहीं मॉर्गन स्टैनली ने 2018 में देश की ग्रोथ रेट के अनुमान को भी 7.8 पर्सेंट से कम कर 7.6 प्रतिशत कर दिया है।

यह भी पढ़ें- अमेरिका में भारतीयों को नहीं,अब अमेरिकियों को मिलेगा अधिक मौका

बता दें कि 8 नवंबर को मोदी सरकार द्वारा 500 और 1000 रुपये के नोटों को बंद किए जाने के बाद से देश में छोटे उद्योग, बाजार, मंडी, असंगठित क्षेत्र और छोटी कंपनियों में काम प्रभावित हुआ है। 500 और 1000 रुपये के नोटों की भारत में कुल प्रचलित मुद्रा में 86 पर्सेंट की हिस्सेदारी थी।

यह भी पढ़ें- नेपाल में आया 5.4 तीव्रता से भूकंप, बिहार में भी दिखा असर

बैंक ऑफ अमेरिका मेरिल लिंच ने अपने इंडियन एक्सपर्ट इंद्रनील सेन गुप्ता की रिपोर्ट के बाद भारत की जीडीपी ग्रोथ के अनुमान को घटाया है। रिपोर्ट में कहा गया है, 'वित्त वर्ष 2017 में हम भारत के जीडीपी ग्रोथ में 30 बेसिस पॉइंट्स की कमी का अनुमान लगाते हैं।

यह भी पढ़ें- प्रतिष्ठित न्यूज चैनल CNN पर पूरे आधे घंटे चली पोर्न क्लिप!

रिपोर्ट में कहा गया है कि नोटबंदी के चलते दिसंबर में भी भारत में कारोबार प्रभावित होगा। 2018 में हमारा अनुमान है कि भारत की जीडीपी ग्रोथ 7.8 पर्सेंट की बजाय 7.6 पर्सेंट तक ही सीमित रहेगी।'


बिजनेस पर शीर्ष समाचार