अब PAK भी नहीं हाफिज सईद के साथ, जमात-उद-दावा आतंकी संगठन घोषित

Edited by: Anuj Updated: 13 Feb 2018 | 11:58 AM
detail image

नई दिल्ली। मुंबई हमले 26/11 के मास्टर माइंड हाफिज सईद की मुश्किल बढ़ गई है। दरअसल पाकिस्तान के राष्ट्रपति ममनून हुसैन ने हाफिज सईद के संगठन जमात-उद-दावा को आतंकवादी संगठन घोषित कर दिया है। राष्ट्रपति ने इस संबंध में एक अध्यादेश पर हस्ताक्षर किए है।

अध्यादेश का उद्देश्य संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (यूएनएससी) द्वारा प्रतिबंधित व्यक्तियों और लश्कर-ए-तैयबा, अल-कायदा और तालिबान जैसे संगठनों पर लगाम लगाना है। इससे पहले पाकिस्तान ने जमात उद दावा को सिर्फ आतंकी सूची में रखा था, प्रतिबंध नहीं लगाया था।

बता दें कि पेरिस में फाइनेंसियल एक्शन टास्क फोर्स (एफएटीएफ) की बैठक होने वाली है। जिसमें मनी लॉन्डरिंग जैसे मामलों को लेकर अलग-अलग देशों की निगरानी होती है। पाकिस्तान उससे पहले खुद को पाक साफ दिखाने की कोशिश में है। इसलिए ही पाकिस्तान ने ऐसे अध्यादेश पर हस्ताक्षर किया।

अध्यादेश की कुछ सीमाएं होती है। उसके बाद वो लैप्स हो जाता है। ऐसे में पाकिस्तान ने उसे कानून में बदलना चाहिए। साल 2005 में लश्कर-ए-तैयबा को एक प्रतिबंधित संगठन घोषित किया था।

अध्यादेश पर हस्ताक्षर करने के बाद पुलिस ने जमात उद दावा के हेडक्वॉर्टर के बाहर लगे बैरिकेड्स को हटा दिया। इन बैरिकेड्स को JuD के सदस्यों द्वारा एक दशक से भी अधिक समय पहले सुरक्षा के नाम पर लगाया गया था।