अब और भी घटेंगी कच्चे तेल की कीमतें, मोदी सरकार सऊदी अरब और USA से करेगी अपील

Edited by: Priyanka Updated: 13 Feb 2018 | 12:28 PM
detail image

नई दिल्ली। पिछले कई समय से अंतरराष्‍ट्रीय बाजार में कच्‍चे तेल की कीमतों में लगातार हो रहे इजाफे के चलते भारतीय बाजार में भी पैट्रो उत्पाद में लगातार बढ़ोत्तरी होने लगी थी लेकिन इन सब के बीच अच्छी ख़बर ये आई है कि अब ग्लोबल मार्केट में क्रूड ऑयल की कीमतें घटने लगी हैं जिससे अब भारत में भी डीजल-पेट्रोल के दाम घटने लगे हैं।

12 फरवरी को पेट्रोल की कीमत घटकर 80.87 रुपए प्रति लीटर पर आ गई है। साथ ही डीजल की कीमत 67.75 रुपए प्रति लीटर पर आ गई है। अब ऐसी उम्मीद जताई जा रही है कि आगे भी ये राहत मिलती रहेगी। विशेषज्ञों की मानें तो अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमतों में आ रही तेजी पर ब्रेक लग गया है, जिससे कच्चे तेल में लगातार गिरावट देखने को मिल रही है।

विशेषज्ञों का कहना है कि कच्‍चे तेल की कीमतें 62 डॉलर प्रति बैरल तक आ सकती है। यूएस में कच्चे तेल का उत्पादन बढ़ा है। वहीं, दुनियाभर में इसकी डिमांड घटी है. यही वजह है कि कच्चे तेल की कीमतें लगातार नीचे आ रही हैं। ब्रेंट क्रूड 26 दिसंबर के बाद से 10 फीसदी सस्ता हो चुका है।

वहीं, अब ख़बर आई है कि देश में कच्‍चे तेल की कीमतों को कंट्रोल में लाने के लिए मोदी सरकार सऊदी अरब और अमेरिका से अपील करेगी कि वो कच्चे तेल की कीमतों में कमी करें। ऑयल मिनिस्टर धर्मेंद्र प्रधान ने बताया कि इससे देश में पेट्रोल और डीजल की कीमतों में बड़ी राहत मिलेगी।

भारत सरकार के कहने पर अगर ये दोनों देश कच्चे तेल की कीमतों में राहत देने का फैसला लेते हैं, तो इसका सीधा फायदा आम लोगों को मिलेगा और उनकी जेब पर पेट्रोल और डीजल की कीमतों का काफी कम दबाव पड़ेगा।