पीएम ने सबको भ्रष्टाचारी बता दिया, उन्हें माफी मांगनी होगीः विपक्ष

Edited by: Editor Updated: 25 Nov 2016 | 01:37 PM
detail image

नई दिल्ली। नोटबंदी को लेकर सरकार और विपक्ष में तनातनी अभी भी जारी है। विपक्ष नोटबंदी को लेकर संसद में लगातार हंगामा कर रहा है। नोटबंदी पर बहस के लिए विपक्षी दल पीएम मोदी को संसद बुलाने पर अड़े हुए हैं। सभी दलों का कहना है कि नोटबंदी से आम लोगों को काफी परेशानी हो रही है। पीएम को इस पर कोई फैसला लेना चाहिए।

यह भी पढ़ें- काले धन के खिलाफ सैनिकों की तरह खड़ा हुआ है आम आदमी: पीएम मोदी

शुक्रवार सुबह 11 बजे से लोकसभा-राज्यसभा की कार्यवाही शुरू हुई। राज्यसभा में विपक्षी सदस्यों ने पीएम को बुलाने की मांग के साथ फिर हंगामा किया। विपक्षी दलों ने पीएम से अपने बयान पर माफी मांगने की मांग की जिसमें पीएम ने कहा था कि 'विपक्ष को हमारी तैयारियों से दिक्कत नहीं हैं बल्कि नोटबंदी के ऐलान ने उन्हें तैयारी करने का मौका नहीं दिया इसलिए भड़के हैं वो'। इस हंगामे के बाद राज्यसभा दोपहर 2:30 तक स्थगित कर दी गई है। जबकि, लोकसभा 28 नवंबर तक स्थगित हो गई।

वहीं कांग्रेस के गुलाम नबी आजाद ने कहा कि सत्ता पक्ष के लोग विपक्ष पर संसद को डिरेल करने का आरोप लगा रहे हैं लेकिन सरकार ने तो देश को ही डिरेल कर दिया। बीएसपी सुप्रीमो मायावती ने कहा कि अगर प्रधानमंत्री की नीयत ठीक है तो वे संसद से भाग क्यो रहे हैं।

यह भी पढ़ें- नोटबंदी से इतर मोदी सरकार ने केजरीवाल को दिया करारा झटका

बीजेपी सांसद डॉक्टर जितेंद्र सिंह ने कहा, 'पीएम के माफी मांगने का सवाल ही पैदा नहीं होता है। सदन में चर्चा चलती रहती है, जरूरी नहीं है कि पीएम लगातार बैठे रहें। पीएम तो कारोबारी के बारे में कह रहे थे ये क्यों चिंतित हैं। उन्होंने विपक्ष के बारे में ये बयान नहीं दिया।'