Disable ADBlock and Click Here to Reload The Page

भारत के वर्चस्व को चुनौती देने की कोशिश में पाकिस्तान

Edited By: Editor
Updated On : 2016-10-12 05:56:51
भारत के वर्चस्व को चुनौती देने की कोशिश में पाकिस्तान
भारत के वर्चस्व को चुनौती देने की कोशिश में पाकिस्तान

इस्लामाबाद। भारत की कूटनीति से दुनिया में अलग-थलग पड़ा पाकिस्तान अब भारत के दबदबे को चुनौती देने की योजना बना रहा है। पाकिस्तान सार्क समूह में दूसरे देशों को शामिल करने की जुगत लगा रहा है। पाकिस्तान की मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, न्यूयार्क में मौजूद पाकिस्तान के एक संसदीय प्रतिनिधि मंडल ने पिछले हफ्ते अपने 5 दिवसीय दौरे के बीच इस विचार को सामने रखा।

मीडिया से मुखातिब होते हुए सीनेटर मुशाहिद हुसैन सैयद ने कहा, एक ग्रेटर साउथ एशिया का उदय हो रहा है। इस ग्रेटर साउथ एशिया में चीन, ईरान और पड़ोसी मध्य एशियाई देश शामिल हैं। पाक सांसद मुशाहिद हुसैन सैयद ने चाइना-पाकिस्तान आर्थिक कॉरिडोर को साउथ एशिया और सेंट्रल एशिया को जोड़ने वाला अहम आर्थिक रूट करार दिया।

उन्होंने कहा कि ग्वादर पोर्ट चीन और कई सेंट्रल एशियाई देशों के लिए सबसे नजदीकी गर्म पानी वाला बंदरगाह है। भीषण सर्दी में भी न जम पाने की वजह से इसका भौगोलिक महत्व बेहद अहम हो जाता है। इस दौरान उन्होंने भारत से भी इसमें जुड़ने की अपील की है।

लेकिन आपको बता दें कि विशेषज्ञों का मानना है कि सार्क के सदस्य देशों में से इस विचार का समर्थन शायद ही कोई सदस्य करने को तैयार हो। गौरतलब है कि पिछले महीने पाकिस्तान होने वाले सार्क सम्मेलन में भारत समेत अफगानिस्तान, बांग्लादेश और भूटान जैसे देशों ने इसमें शामिल होने से मना कर दिया था।


दुनिया पर शीर्ष समाचार