अत्यधिक रक्षा व्यय से विश्व में अलग-थलग पड़ेगा पाकः रिपोर्ट

Author: Hindi Khabar
Updated On : 2016-10-28 20:15:35
अत्यधिक रक्षा व्यय से विश्व में अलग-थलग पड़ेगा पाकः रिपोर्ट

वाशिंगटन। अमेरिकी थिंक टैंक ने कहा है कि पाकिस्तान दूसरे देशों से जितनी ज्यादा डिफेंस टेक्नोलॉजी खरीदेगा, उतना ही उसपर दुनिया से अलग-थलग होने का खतरा बढ़ता जाएगा। रिपोर्ट के मुताबिक, भारत में हथियार और एडवान्स्ड टेक्नोलॉजी खरीद बीते महीनों में तेजी से बढ़ी है।

पाक को हथियार खरीदने की दौड़ से बाहर करने के लिए भारत दबाव बना सकता है। बता दें कि बीते दिनों भारत ने अमेरिका से लॉजिस्टिक्स एक्सचेंज मेमोरेंडम ऑफ एग्रीमेंट (LEMOA) और रूस से 43 हजार करोड़ की बड़ी डिफेंस डील की हैं।

अमेरिका के स्टिमसन सेंटर के मुताबिक, 'लॉन्ग टर्म में देखें तो पाक के लिए इंटरनेशनल मार्केट से एडवान्स्ड वेपन्स सिस्टम खरीदना मुमकिन नहीं होगा। इसके बजाय उसे चीनी और रूसी मिलिट्री सिस्टम्स पर ही भरोसा करना होगा।

हालांकि इसकी संभावना कम है कि वे पाक डिफेंस जरूरतों को पूरा कर पाएं। स्टिमसन सेंटर ने ये बातें अपनी रिपोर्ट 'मिलिट्री बजट इन इंडिया एंड पाकिस्तान: 'ट्रेजेक्टरी, प्रायोरिटीज एंड रिस्क' में कही हैं। रिपोर्ट के मुताबिक, 'पाकिस्तान को एडवान्स्ड वेपन्स की खरीदारी में भारत की परचेजिंग पावर और क्षेत्र में उसकी तेजी से बढ़ते प्रभाव का सामना करना पड़ेगा।'


दुनिया पर शीर्ष समाचार