Disable ADBlock and Click Here to Reload The Page

लोग मेरे राजनीतिक जीवन को खत्म कर देना चाहते हैं: नीतीश कुमार

Edited By: Editor
Updated On : 2016-11-28 23:43:25
लोग मेरे राजनीतिक जीवन को खत्म कर देना चाहते हैं: नीतीश कुमार
लोग मेरे राजनीतिक जीवन को खत्म कर देना चाहते हैं: नीतीश कुमार

पटना। नोटबंदी पर प्रधानमंत्री मोदी के फैसले का समर्थन करने और भारत बंद से अलग रहे बिहार के मुख्यमंत्री और जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष नीतीश कुमार ने सफाई देते हुए कहा कि उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से फोन पर अभी बात तक नहीं की है। 

बकौल नीतीश, 'कभी कोई मुझे भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह से मिलवा देता है और कभी कोई प्रधानमंत्री मोदी से बात करवा देता है। लगता है कि लोग उनके राजनीतिक जीवन को ही खत्म कर देना चाहते हैं, पता नहीं कहां से लोगों को यह खबर मिल जाती है।'

यह भी पढ़ें- नोटबंदीः अब खाते से जितना चाहे नकद निकालें, कैश की लिमिट खत्म

बता दें कि बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने एक बार फिर नोटबंदी के बाद कालेधन पर प्रहार करने के लिए केंद्र सरकार को सुझाव देते हुए कहा कि अब केंद्र सरकार को बेनामी संपत्ति पर जल्द ही चोट करनी चाहिए। इसमें देरी करने पर केंद्र सरकार की ओर से कालाधन के खिलाफ शुरू की गयी मुहिम की मंशा पर ही सवाल उठेंगे।

यह भी पढ़ें- आयकर संशोधन बिल पास, अघोषित आय पर देना होगा अब 50 फीसदी टैक्स

आपको बता दें कि विधानमंडल की कार्यवाही के बाद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बिहार विधान परिषद स्थित अपने चेंबर में पत्रकारों से बातचीत में कहा कि अकेले नोटबंदी लागू कर देने भर से ही कालेधन पर प्रहार करने का काम नहीं चलेगा। कालेधन पर असली चोट करना है, तो बेनामी संपत्ति पर भी चोट करना होगा। इसके साथ ही, देश भर में शराबबंदी लागू करनी होगी।

यह भी पढ़ें- जन-धन खातों में निकासी की सीमा हुई 10 हजार रुपए

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने एक बार फिर चीन से आगे बढ़ने की बात को दोहराते हुए कहा कि देश में नोटबंदी, शराबबंदी और बेनामी संपत्ति पर चोट होने से ही भारत चीन से भी आगे निकल सकेगा। उन्होंने कहा कि बचपन से हम सबके मन में सोच बनी है कि कैसे चीन से भारत आगे निकले?


राष्ट्रीय पर शीर्ष समाचार