विजयादशमी पर बदला स्वयंसेवकों का गणवेश, 90 वर्ष बाद बदला गणवेश

Edited by: Editor Updated: 11 Oct 2016 | 09:55 AM
detail image

नागपुर। मंगलवार को विजयादशी के दिन राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ने अपना गणवेश बदल दिया है। अब संघ के स्वयंसेवक खाकी नेकर की जगह भूरे रंग की फुल पैंट में नजर आयेंगे। पिछले 90 सालों से संघ के स्वयंसेवक खाकी नेकर में दिखते थे। संघ के स्वयंसेवकों ने विजयादशमी के मौके पर आयेाजित समारोह में खाकी नेकर की बजाय भूरे रंग की फुल पैंट में पथ संचलन किया। नागपुर स्थित संघ मुख्यालय में चल रहे इस समारोह में शामिल होने के लिए महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़नवीस और केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी भी पहुंचे हैं।

खाकी नेकर संघ की यूनिफॉर्म में 90 साल से शामिल थी। इस तरह से इस संगठन में एक पीढ़ीगत बदलाव आएगा जिसे बीजेपी का वैचारिक मार्गदर्शक माना जाता है। संघ ने स्वयंसेवकों के लिए मोजों के रंग को बदलने की भी मंजूरी दे दी है और पुराने खाकी रंग की जगह गहरे ब्राउन रंग के मोजे इसमें शामिल होंगे। हालांकि परंपरागत रूप से शामिल दंड गणवेश का हिस्सा बना रहेगा।

आपको बता दें कि राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की स्थापना 1925 में विजयादशमी के दिन हुई थी। इसकी शुरूआत डॉ. केशव बलिराम हेडगेवार ने की थी। संघ दुनिया की सबसे बड़ी स्वयंसेवी संस्थाओं में से एक है।