RSS प्रमुख के विवादित बयान पर CM नीतीश ने इस तरह किया बचाव

Edited by: Aniket Updated: 13 Feb 2018 | 05:34 AM
detail image

पटना। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत के संघ के स्वयं सेवकों की तीन दिन में सेना तैयार करने संबंधी बयान का बचाव किया है। नीतीश ने कहा कि कोई नागरिक या नागरिक संगठन देश की सीमा की रक्षा के लिए अगर अपनी तत्परता दिखाता है तो यह ठीक है।

भागवत के बयान पर उन्होंने कहा था कि सेना को सैन्यकर्मियों को तैयार करने में छह-सात महीने लग जाएंगे, लेकिन संघ के स्वयं सेवकों को लेकर यह तीन दिन में तैयार हो जाएगी, से जुड़े एक सवाल के जवाब में नीतीश ने कहा कि कोई नागरिक या नागरिक संगठन देश की सीमा की रक्षा के लिए अगर अपनी तत्परता दिखाता है तो यह ठीक है।

नीतीश ने प्रदेश की प्रमुख विपक्षी पार्टी आरजेडी के राज्य और केंद्र सरकार के माध्यम से लालू प्रसाद को चारा घोटाला में 'फंसाए' जाने के आरोपों को खारिज करते हुए कहा कि इसमें उनकी और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की कोई भूमिका नहीं है।

नीतीश ने कहा 20 साल पुराने मामले में आज सजा हो रही है। अदालत में सुनवाई चल रही है। सीबीआई ने जांच की है और इसमें उनकी और मोदी की कोई भूमिका नहीं है। न्यायिक निर्णय पर कोई प्रतिक्रिया मैं नहीं देता हूं।