RSS का सुपरप्लान, योगी मंत्रिमंडल में हो सकता है बड़ा फेरबदल!

Edited by: Shiwani_Singh Updated: 11 Jan 2018 | 08:29 PM
detail image

लखनऊ। वैसे सरकार के कामकाज में RSS का सीधा दखल नहीं होता। बीजेपी यही दावा करती रहती है, लेकिन बीजेपी के 'मिशन-2019' की सफलता के लिए RSS ने फोकस बढ़ा दिया है। RSS के सर कार्यवाह दत्तात्रेय होसबोले और डॉ. कृष्ण गोपाल ने मंगलवार की रात और बुधवार के दिन मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सहित कई मंत्रियों, अफसरों की कार्यशैली पर लंबा मंथन किया, जिसमें कई खामिया पाई गईं।

सूत्रों की माने तो 8 मंत्रियों के कामकाज को अच्छा नहीं माना गया है। ऐसे में संभावना जताई जा रही है कि मकर संक्राति के बाद मंत्रिमंडल में फेरबदल हो सकता है। बता दें कि आरएसएस ने बीजेपी सरकार से लेकर संगठन तक फेरबदल की जमीन तैयार करनी शुरू कर दी है। इस सिलसिले में अलग-अलग जिम्मेदारी निभाने वालों के मूल्याकन का काम पूरा कर लिया गया। अब बस रिजल्ट घोषित करने की तैयारी चल रही।

ख़बर है कि मकर संक्रांति के बाद रिजल्ट सामने आने लगेंगे। इस सिलसिले में बुद्धवार को सूबे में अलग-अलग चरणों में विचार-विमर्श किया गया। एक तरफ बीजेपी मुख्यालय पर प्रदेश अध्यक्ष डॉ. महेंद्र नाथ पांडे, राष्ट्रीय सह महामंत्री संगठन मंत्री शिवप्रकाश, प्रदेश के महामंत्री संगठन सुनील बंसल और उप मुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा ने हिस्सा लिया। वहीं, दूसरी तरफ संघ मुख्यालय भारती भवन पर भी संघ ने मंगलवार को सीएम आवास पर हुई समन्वय बैठक से निकले निष्कर्षों पर मंथन किया।

सूत्रों का कहना है कि आरएसएस बड़े पदाधिकारियों ने सवाल किया कि सरकार कुछ अफसरों के चंगुल में क्यों फंस गई। उन्होंने सरका से सवाल किया कि जिनकी छवि अच्छी नहीं, अनुभव नहीं वे अधिकारी प्रमुख पदों पर कैसे तैनात हैं? इसके बाद सरकार ने जवाब दिया और कहा की फैसले लिए जा रहे हैं?