राम नवमी विशेषः ऐसे करें प्रभु श्रीराम को खुश

Edited by: Web_team Updated: 05 Apr 2017 | 12:17 PM
detail image

नई दिल्ली। देशभर में नौ दिनों के नवरात्रि महोत्सव में आज आखिरी दिन रामनवमी के रूप में बड़ी धूमधाम से मनाई जा रही है। इसी दिन सभी भक्त कन्या पूजन करके अपने व्रत को खोलेंगे। बसंत ऋतु में आने वाले इस त्योहार को भगवान राम के जन्मदिन के तौर पर देशभर में मनाया जाता है।

यह भी पढ़ें-खूब झुलसाएगी गर्मी, अहमदाबाद में 'येलो अलर्ट' जारी!

बता दें कि यह हिंदुओं के वैष्णव पंथ को मानने वाले लोगों के लिए बहुत महत्वपूर्ण त्योहार होता है। हिंदुओं में भगवान राम के विष्णु का सातवां अवतार माना जाता है। चैत्र नवरात्री के नौवें दिन राम की कथा पढ़ी और सुनाई जाती है। इस साल राम नवमी का शुभ समय सुबह 10.30 मिनट से शुरू हो जाएगा।

रामनवमी की पूजा विधि- प्रातः काल स्नान आदि से निवृत्त होकर सबसे पहले राम दरबार की पूजा में भगवान श्री राम का पूजन, आह्वान और आरती करें। इसके बाद पुष्पांजलि अर्पित करके क्षमा प्रार्थना करे। आखिर में इस मंत्र का जाप करते हुए समर्पण करें- 'कृतेनानेन पूजनेन श्री सीतारामाय समर्पयामि।'

यह भी पढ़ें-कसूरी मेथी खाने के ये हैं 5 बड़े फायदे

वहीं, नारद पुराण के अनुसार राम नवमी के दिन सभी भक्तों को उपवास करने का सुझाव दिया गया है। भगवा राम की पूजा के बाद ब्राह्मणों को भोजन करवाना चाहिए। उसके बाद उन्हें गाय, जमीन, कपड़े और दक्षिणा देकर दोनों हाथ जोड़कर विदा करना चाहिए, जिसके बाद ही भगवान श्रीराम की पूजा खत्म होती है।