राजदेव रंजन हत्याकांडः 3 महीने में जांच पूरे करने का आदेश

Author: Hindi Khabar
Updated On : 2016-10-17 15:22:47
राजदेव रंजन हत्याकांडः 3 महीने में जांच पूरे करने का आदेश

नई दिल्ली। सिवान के पत्रकार राजदेव रंजन हत्याकांड के मामले में उनकी पत्नी आशा रंजन की ओर से सुप्रीम कोर्ट में दाखिल याचिका पर सोमवार को अहम सुनवाई हुई। जिसमें सुप्रीम कोर्ट ने सीबीआई को तीन महीने के भीतर जांच पूरा करने का निर्देश दिया। कोर्ट ने हत्याकांड में संदिग्ध कैफ़ और जावेद के बारे में सिवान के सत्र न्यायाधीश से रिपोर्ट तलब की।

पत्रकार राजदेव रंजन की पत्नी ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर कर इस मामले की सुनवाई बिहार से बाहर कराने की मांग की थी। साथ ही साथ उन्होंने बिहार के स्वास्थ्य मंत्री तेजप्रताप यादव पर हत्यारोपियों मो. कैफ व जावेद को संरक्षण देने तथा पूर्व सांसद मो. शहाबुद्दीन पर हत्या की साजिश रचने तथा हत्यारों को संरक्षण देने के आरोप लगाए हैं।

इस मामले में सुप्रीम कोर्ट ने मो. शहाबुद्दीन, मंत्री तेजप्रताप यादव, सिवान पुलिस और बिहार सरकार को नोटिस जारी किया था। जिसके जवाब में मंत्री तेजप्रताप के वकील ने कहा सिवान से गुजरते वक्त रास्ते मे एक अधिकारी ने उन्हें डिनर पर बुलाया था, जहां कैफ़ ने उन्हें बुके भेंट किया था। तेजप्रताप का कहना है कि कैफ़ से उनकी मुलाकात आकस्मिक थी।

हालांकि जब सुप्रीम कोर्ट ने जांच में देरी का कारण पूछा तो कोर्ट में हलफनामे के जरिए दाखिल जवाब में बिहार सरकार ने कहा कि 13 मई को पत्रकार राजदेव रंजन की हत्या के तीन दिन बाद 16 मई को ही बिहार सरकार ने सीबीआई जांच की अनुशंसा कर दी थी। सीबीआई ने ही जांच में देरी की है। तो इसका कारण सीबीआई ही बता सकती है।


राष्ट्रीय पर शीर्ष समाचार