रावण की तरह काट देने चाहिए बलात्कारियों के सिरः उमा भारती

Edited by: Editor Updated: 10 Feb 2017 | 04:00 PM
detail image

नई दिल्ली। केंद्रीय मंत्री उमा भारती इन दिनों यूपी विधानसभा चुनावों के प्रचार में जुटी हैं। यूपी की ही एक रैली में उमा भारती ने कहा कि जब वह मध्य प्रदेश की मुख्यमंत्री थीं तो बलात्कारी उनसे रहम की भीख मांगते थे।

यह भी पढ़ें- जब राहुल ने ऑर्डिनेंस फाड़ा था तब भी मनमोहन का अपमान हुआ थाः प्रसाद

आगरा की रैली में उमा भारती ने कहा कि बलात्कारियों को पीड़िता के सामने तब तक टॉर्चर किया जाना चाहिए जब तक की वह रहम के लिए भीख न मांगने लगे। जब मैं मुख्यमंत्री थी तो ऐसा होता था।

बुलंदशहर में मां-बेटी के साथ पिछले साल हुए गैंगरेप के मामले में समाजवादी पार्टी की सरकार पर निशाना साधते हुए उमा भारती ने कहा कि सरकार ने इस मामले में गिरफ्तार लोगों की जमानत रोकने के लिए कोई प्रयास नहीं किया।

उमा ने आगे कहा कि बलात्कारियों को उल्टा लटकाकर तब तक पीटना चाहिए जब तक उनकी चमड़ी न उतर जाए। उनके घावों पर नमक-मिर्च छिड़कना चाहिए। उन्होंने कहा कि जब एक पुलिस अधिकारी ने ऐसा किए जाने पर आपत्ति जताई तो मैंने उनसे कहा कि ऐसे दानवों का कोई मानवाधिकार नहीं होता। रावण की तरह उनके सिर भी काट दिए जाने चाहिए।

उमा भारती ने यूपी के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की पत्नी डिंपल यादव पर भी निशाना साधा। उन्होंने कहा कि डिंपल यादव पार्टी के लिए तो वोट मांग रही हैं लेकिन रेप पीड़िताओं से मिलने का उनके पास समय नहीं है।

यह भी पढ़ें- BMC चुनावः बीजेपी उम्मीदवार के पास है 690 करोड़ रुपए की संपत्ति

इससे पहले केंद्रीय मंत्री उमा भारती ने नियंत्रण रेखा के पार सेना के लक्षित हमले (सर्जिकल स्‍ट्राइक) पर 'संदेह' जताने वाले राजनीतिज्ञों पर निशाना साधते हुए कहा था कि ऐसे नेताओं को पाकिस्तान की 'नागरिकता' ले लेनी चाहिए। जो नेता यह कहते हैं कि यदि पाकिस्तान लक्षित हमले के सबूत मांग रहा है तो उन्हें सबूत दे दिये जाने चाहिए, ऐसे व्यक्तियों को पाकिस्तान की नागरिकता ले लेनी चाहिए।'