साइरस मिस्त्री ने रतन टाटा पर लगाए कई आरोप

Author: Hindi Khabar
Updated On : 2016-10-27 11:07:30
साइरस मिस्त्री ने रतन टाटा पर लगाए कई आरोप

मुंबई। चेयरमैन पद से हटाए जाने के बाद साइरस मिस्त्री ने रतन टाटा के खिलाफ कई आरोप लगाए हैं। बता दें कि कुछ दिन पहले ही साइरस मिस्त्री को अचानक चेयरमैन के पद से हटा दिया गया था।

रिपोर्ट के मुताबिक मिस्त्री ने 25 अक्तूबर को लिखे ई-मेल में कहा है कि ‘24 अक्तूबर 2016 को निदेशक मंडल की बैठक में जो कुछ हुआ, वह हतप्रभ करने वाला था और उससे मैं अवाक रह गया। वहां की कार्रवाई के अवैध और कानून के विपरीत होने के बारे में बताने के अलावा, मुझे यह कहना है कि इससे निदेशक मंडल की प्रतिष्ठा में कोई वृद्धि नहीं हुई।'

मिली जानकारी के मुताबिक मिस्त्री ने 22 करोड़ रुपए की धोखाधड़ी का खुलासा किया। मिस्त्री ने कहा है कि कुछ सौदों को लेकर नैतिक रूप से चिंता जतायी गई थी और हाल में फॉरेंसिक जांच से 22 करोड़ रुपए के धोखाधड़ी वाले सौदों का खुलासा हुआ। इसमें भारत और सिंगापुर में ऐसे पक्ष जुड़े थे, जो वास्तव में हैं ही नहीं। साथ ही मिस्त्री ने टाटा पर आरोप लगाते हुए कहा कि कई बार उन्हें ऐसे सौदों को मंज़ूरी देने को कहा गया था, जिनके बारे में उन्हें ज़्यादा जानकारी भी नहीं थी।

यहां तक की मिस्त्री ने दुनिया की सबसे सस्ती कार बनाने वाले टाटा के नैनो प्रॉजेक्ट को भी घाटे का सौदा बताया। उन्होंने कहा कि 'किसी भी रणनीति के तहत कंपनी को इसे (प्रॉजेक्ट) बंद कर देना चाहिए। सिर्फ़ भावनात्मक कारणों से ही हम इस अहम फ़ैसले से अब भी दूर हैं।' आपको बता दें कि साइरस मिस्त्री टाटा संस के 148 साल के इतिहास में पहले गैरटाटा चेयरमैन बनने वाले व्यक्ति थे।

 


बिजनेस पर शीर्ष समाचार