स्कूल से छुट्टी पाने के लिए दोहराया 'प्रद्युम्‍न हत्याकांड पार्ट 2'

Edited by: Priyanka Updated: 18 Jan 2018 | 01:12 PM
detail image

नई दिल्ली। यूपी की राजधानी लखनऊ में अलीगंज स्थित ब्राइटलैंड स्कूल से एक हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है। यहां पर गुरुग्राम के रेयान इंटरनेशनल सकूल में हुए प्रद्युम्‍न हत्याकांड को दोहराने की कोशिश की गई। इन दोनों घटनाक्रम में फर्क सिर्फ इतना रहा सा है कि गुरुग्राम के स्कूल में प्रद्युम्‍न की जान चली गई थी जबकि लखनऊ के इस स्कूल में 7 साल के बच्चे की खतरे में पड़ी जान को डॉक्टरों द्वारा बचा लिया गया।

दरअसल, लखनऊ के ब्राइट लैंड स्कूल के ही एक 7 साल के बच्चे को उसी स्कूल की 11 साल की एक लड़की ने सिर्फ इसलिए चाकू से गोदकर मारने की कोशिश की क्योंकि उसे स्कूल से छुट्टी चाहिए थी।

बता दें इस हमले में घायल रितिक शर्मा नाम के इस छात्र को स्कूल प्रशासन ने परिजनों को सूचना देने के बाद ट्रॉमा सेंटर में भर्ती कराया। बुधवार को मामले की सूचना मिलने पर पुलिस पीड़ित छात्र का बयान दर्ज कर पड़ताल में जुट गई। छात्र ने बताया कि दीदी मारते समय बार-बार यही कह रही थी कि स्कूल में छुट्टी के लिए तुम्हारी हत्या जरूरी है।

जानकारी के मुताबिक अलीगंज थाना क्षेत्र के त्रिवेणीनगर निवासी राजेश सिंह हाईकोर्ट में चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी हैं। उनका 7 वर्षीय बेटा रितिक त्रिवेणीनगर-3 स्थित ब्राइटलैंड इंटर कॉलेज में कक्षा एक का छात्र है। मंगलवार को रितिक को उसी स्कूल की छात्रा ने शौचालय में बन्द कर दिया और उसके हाथ पैर बांध दिए। इसके बाद उसे चाकू मारकर लहूलुहान कर दिया।

वहीं, इस मामले पर पीड़ित छात्र के पिता राजेश सिंह का कहना है कि स्कूल के अन्दर इतनी जघन्य वारदात होने के बाद भी स्कूल प्रशासन ने पुलिस को घटना की सूचना नहीं दी और उन्हें भी पुलिस को सूचना देने से मना किया, लेकिन जब दबाव बढ़ा तो स्कूल प्रशासन ने बुधवार को घटना के बारे में पुलिस को सूचना दी। गौरतलब है कि स्कूल में करीब 70 सीसीटीवी कैमरे लगे हैं, लेकिन जिस स्थान पर घटना हुई वहां बाथरूम के बाहर भी कोई कैमरा नहीं लगा था।

उन्होंने बताया कि पुलिस को दिए गए अपने बयान में रितिक ने जूनियर सेक्शन की एक छात्रा पर आरोप लगाया है। उसने कहा कि छात्रा ही उसे शौचालय ले गई और दुपट्टे से दोनों हाथ बांधकर चाकू से उस पर कई वार किए। छात्र जब चीखने लगा तो उसके मुंह में कपड़ा ठूंस दिया और लहूलुहान हालत में ही उसे शौचालय में बंद करके भाग गई। छात्र ने दरवाजा खटखटाया तो स्कूल के डिसिप्लिन इंचार्ज अमित सिंह आए।

दरवाजा खोलने पर नजारा देखकर वो चीख पड़े। उन्होंने स्कूल के प्रशासन को इसकी खबर दी और घायल छात्र को देवकी अस्पताल ले गए जहां उसकी गंभीर हालत को देखते हुए उसे ट्रॉमा सेंटर भेज दिया गया। फिलहाल, पुलिस स्कूल में लगे सीसीटीवी कैमरे से घटना की फुटेज खंगाल रही है। साथ ही आरोपी छात्रा से पूछताछ की जा रही है।