बरसात ने बढ़ाए सब्जियों के दाम, रसोई का बिगड़ा बजट

Edited by: Editor Updated: 17 Jul 2017 | 03:58 PM
detail image

चित्रकूट। लगातार बरसात के चलते जहां आम जन जीवन व्यस्त हो गया है वहीं नदी व नालों के किनारे लगी सब्जियों के डूब जाने के कारण अचानक भाव तेज हो गए। इसका खामियाजा लोग पिछले महीने से भुगत रहे हैं। टमाटर का भाव पेट्रोल से ज्यादा है तो आलू व अन्य सब्जियों के दाम लगातार ऊपर की ओर चढ़ते जा रहे हैं। हाल यह है कि परवल, टमाटर व भिंडी आदि के दाम तो दो से तीन गुना बढ़ गए हैं। इससे लोगों के रसोई का बजट बिगड़ रहा है।

यह भी पढ़ें- जमीन खोदकर पुलिस ने निकाली दो सौ लीटर से ज्यादा शराब

पिछले दिनों हुई बारिश में सब्जी के भाव भी आसमान छू रहे हैं। ऐसे में अब भोजन की थाली से सब्जी भी नदारद होने के अंदेशा है। इसके अलावा हरी धनिया ने तो हद ही पार कर दी। हरी धनिया के भाव ढाई सौ रुपए प्रति किलो है। हरी मिर्च के दाम भी इस कदर बढ़े कि लोग दाम ही सुनकर परेशान हो जाते हैं। गरीब तबके के लोग सब्जी दुकान में जाकर जैसे ही सब्जी के भाव पूछते हैं तो भाव सुनकर दबे पांव वापस लौट आते हैं। अब हरी सब्जी भी थाली से नदारद होती जा रही है।

सब्जियों के आसमान चूमते दाम आम आदमी के बस के बाहर हैं। ऐसे में आम लोगों ने सब्जी मंडी की ओर रुख करना तकरीबन बंद कर दिया है। सब्जीमंडी इन दिनों बेरौनक नजर आ रही है। बीते साल की अपेक्षा इस बार आम के भाव भी आम लोगों से खासे दूर रहे हैं। अब आम का सीजन तकरीबन निकलने के करीब है। फिर भी आम इस बार आम लोगों से दूर ही रहा है।