केजरीवाल को झटका ,सुप्रीम कोर्ट जज ने सुनवाई से खुद को किया अलग

Edited by: Editor Updated: 17 Nov 2016 | 10:47 AM
detail image

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट के जज एल नागेश्वर राव ने मंगलवार को दिल्ली सरकार की उक्त याचिका की सुनवाई से खुद को अलग कर लिया है, जिसमें उपराज्यपाल के अधिकारों को चुनौती दी गई गई थी।

दरअसल, दिल्ली सरकार ने हाईकोर्ट के फैसले को चुनौती देते हुए सुप्रीम कोर्ट में अपील की थी। उक्हात फैसले में हाईकोर्ट ने कहा था कि राजधानी दिल्ली केंद्रशासित प्रदेश है, इसलिए दिल्ली में राष्ट्रपति के प्रतिनिधि उपराज्यपाल ही प्रशासकीय प्रमुख हैं।

रिपोर्ट के मुताबिक सुप्रीम कोर्ट में दिल्ली सरकार की अर्जी पर जस्टिस एके सीकरी की अध्यक्षता वाली पीठ सुनवाई कर रही है। इसमें जस्टिस राव भी हैं। जस्टिस राव ने कहा है कि वह मामले में सुनवाई नहीं कर सकते हैं। उन्होंने मुकद्दमे की अगली तिथि 25 नवंबर निर्धारित कर दी।

यह भी पढ़े- सपा में रामगोपाल यादव की हुई वापसी

सूत्रों के मुताबिक इससे पहले दिल्ली सरकार के वरिष्ठ अधिवक्ता गोपाल सुब्रह्मण्यम ने अदालत से कहा, 'आप सरकार की ओर से अधिवक्ताओं की नियुक्ति को रद्द करने के उपराज्यपाल के फैसले को चुनौती दी गई है। इस याचिका पर तुरंत सुनवाई होनी चाहिए, क्योंकि राज्य सरकार को अदालत में कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा था।'

गौरतलब है कि 9 सितंबर को सुप्रीम कोर्ट ने हाई कोर्ट के फैसले पर रोक लगाने से इन्कार किया था। कोर्ट ने एलजी के 400 फाइलें मंगाने और उसे जांच के लिए तीन सदस्यीय समिति को सौंपने के फैसले पर भी रोक लगाने से मना कर दिया था।