नदवी बोले- 'मुद्दा सुलझाने के लिए टीम मोदी ने साधा था संपर्क, विवादित जमीन पर बनेगा मंदिर'

Edited by: Shivani Updated: 13 Feb 2018 | 01:51 PM
detail image

नई दिल्ली। अयोध्या विवाद को लेकर मौलाना सलमान नदवी ने दावा किया है कि अयोध्या विवाद के समाधान के लिए खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की टीम ने उनसे संपर्क साधा था। उन्होंने कहा कि अयोध्या में होने वाली बैठक के बाद उन्होंने पीएम मोदी से मुलाकात की थी। बता दें कि नदवी अयोध्या की विवादित जमीन पर राम मंदिर बनाने के पक्षकार है।

नदवी ने कहा कि उन्हें उम्मीद है कि विवादित जमीन पर राम मंदिर बनेगा और हम अंतिम समाधान तक पहुंचेंगे। इसके साथ ही उन्होंने ओवैसी पर भी निशाना साधा। नदवी ने कहा कि ओवैसी जैसे लोग समाज में नफरत फैलाने के लिए प्रसिद्ध है। ऐसे में हम उनसे क्या उम्मीद कर सकते हैं?

नदवी ने कहा, ''मैं दोनों समुदायों के लिए अयोध्या विवाद के शांतिपूर्ण समाधान पर काम करने के लिए अपना सर्वश्रेष्ठ प्रयास कर रहा हूं। मुझे भावनात्मक महसूस हुआ क्योंकि मैं कुछ अच्छा समाधान ढूंढने की कोशिश कर रहा हूं जो इस्लाम में स्वीकार्य है, लेकिन कुछ लोग निहित स्वार्थों के कारण मुझे टारगेट कर रहे हैं।''

नदवी ने कहा कि मुझे यकीन है कि राम मंदिर उसी जमीन पर बनेगा और हम अंतिम समाधान तक पहुंचेंगे। हम अयोध्या में फिर से मिलकर चर्चा करेंगे और आगे बढ़ने के लिए कुछ हल तलाशेंगे। उन्होंने कहा कि हां, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की टीम ने उनसे आगे की कार्रवाई और समाधान के लिए संपर्क किया है। हम उस पर बात कर रहे हैं हम अयोध्या में बैठक के बाद पीएम से मिलेंगे।

इससे पहले भी मौलाना सलमान नदवी अयोध्या मामले में मध्यस्थता की भूमिका निभा रहे श्री श्री रविशंकर से मिल चुके है। इस दौरान उन्होंने कहा था कि मुस्लिमों को विवादित जगह से अपना दावा छोड़ देना चाहिए। मस्जिद को कहीं और शिफ्ट किया जाए और विवादित जगह पर राम मंदिर बनाया जाए।