Disable ADBlock and Click Here to Reload The Page

सतपाल महाराज और मदन कौशिक के समर्थक भिड़े, मेयर समेत कई घायल

Edited By: Shiwani Singh
Updated On : 2017-08-10 17:21:45
सतपाल महाराज और मदन कौशिक के समर्थक भिड़े, मेयर समेत कई घायल via
सतपाल महाराज और मदन कौशिक के समर्थक भिड़े, मेयर समेत कई घायल

हरिद्वार। अतिक्रमण को लेकर हरिद्वार में बड़ा बवाल सामने आया है। आरोप है कि कार्रवाई के दौरान कैबिनेट मंत्री सतपाल महाराज के समर्थकों ने मेयर मनोज गर्ग और नगर निगम हरिद्वार के कर्मचारियों पर हमला कर दिया है। हमले में मेयर समेत कई लोग घायल हो गए हैं। वहीं, पुलिस की मौजूदगी में भी पथराव की सूचना है।

यह भी पढ़ें-उत्तराखंड: भारी बारिश और सैलाब से 10 मौत, गंगा का जलस्तर भी बढ़ा

रिपोर्ट के अनुसार बारिश के कारण खन्ना नगर में जलभराव हो रहा था। कैबिनेट मंत्री सतपाल महाराज के प्रेमनगर आश्रम के ठीक बराबर में पॉश कालोनी खन्ना नगर स्थित है। सुबह हुई बारिश के दौरान हरिद्वार की सड़कें जलमग्न हो गईं। खन्ना नगर में भी जलभराव हो गया।

जलभराव की स्थिति का जायजा लेने मेयर मनोज गर्ग मौके पर पहुंचे तो वहां मौजूद भीड़ का आरोप था कि प्रेमनगर आश्रम के अतिक्रमण के चलते ही कालोनी में जलभराव की नौबत आ रही है। आरोप है कि आश्रम की ओर से नाले पर भी कब्जा किया गया है। इससे पानी की निकासी रुक गई है।

यह भी पढ़ें-उत्तराखंड में सेक्स रैकेट का पर्दाफाश, 50 हजार में हुआ जिस्म का सौदा

मौके पर नगर निगम की टीम जैसे ही आश्रम के अतिक्रमण को तोड़ने लगी तो आश्रम के लोगों ने विरोध शुरू कर दिया। मेयर गर्ग के साथ शहरी विकास मंत्री मंत्री मदन कौशिक के समर्थक मौजूद थे। देखते ही देखते दोनों पक्षों में विवाद बढ़ गया। आरोप है कि आश्रम से सतपाल महाराज के समर्थक डंडे लेकर आए और उन्होंने मेयर के साथ ही नगर निगम कर्मचारियों और कौशिक समर्थकों पर हमला बोल

इससे मेयर को चोट आई है। उन्हें किसी तरह बचाकर अस्पताल पहुंचाया गया। इस दौरान कौशिक के समर्थकों ने जेसीबी चला कर अतिक्रमण तुड़वा दिया। इससे गुस्साए महाराज समर्थकों ने पथराव किया तो जवाब में दोनों ओर से पत्थर बाजी हुई। इसमें दोनों पक्ष से करीब आधा दर्जन लोग घायाल बताए जा रहे हैं।

इस दौरान पुलिस को लाठियां फटकारकर किसी तरह स्थित नियंत्रित करनी पड़ी। मंत्री मदन कौशिक के समर्थक महाराज के समर्थकों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग को लेकर वहां प्रदर्शन करने लगे। प्रशासन और पुलिस की टीम दोनों पक्षों को समझाने में जुटी रही। उधर, नगर निगम ने सतपाल महाराज के आश्रम के गेट पर बाहर कूड़ा डाल दिया है।


उत्तराखंड पर शीर्ष समाचार


x