राष्ट्रपति नहीं बनेंगे शरद पवार, ठुकराया सोनिया गांधी का ऑफर

Edited by: Shiwani_Singh Updated: 18 May 2017 | 03:32 PM
detail image

नई दिल्ली। शरद पवार की पार्टी एनसीपी ने एक ऐसा खुलासा किया है, जिसे जान कर हर कोई हैरान है। एनसीपी पार्टी ने बताया कि कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने शरद पवार को राष्ट्रपति उम्मीदवार बनने का न्यौता दिया था, लेकिन पवार ने इसे ठुकरा दिया। यह खुलासा ऐसे समय में किया गया है जब केंद्रीय एजेंसियां पी चिदंबरम और लालू प्रसाद यादव से प्रत्यक्ष या परोक्ष रुप से जुड़े लोगों के खिलाफ भ्रष्टाचार रोधी अभियान चला रही है।

नेशनलिस्ट कांग्रेस पार्टी (NCP) प्रवक्ता नवाब मलिक ने मुबंई में की एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा, पिछले महीने हुई बैठक में सोनिया गांधी ने शरद पवार को विपक्ष की ओर से राष्ट्रपति उम्मीदवार बनने को कहा था, लेकिन उन्होंने कहा कोई ओर विकल्प ढूंढ लिया जाए। कांग्रेस नेताओं ने एनसीपी के इस लासे पर हैरानी जताई।

कांग्रेस नेताओं ने कहा कि अभी तक किसी के नाम पर सहमति नहीं बनी है और चर्चा अभी तक जारी है। मलिक ने कहा कि पवार पहले ही कह चुके हैं कि वह चुनाव लड़ने में रूचि नहीं रखते। सोनिया सभी विपक्षी दलों को एकजुट कर सर्वसम्मति से विपक्ष का एक राष्ट्रपति उम्मीदवार खड़ा करने में लगी हुई हैं।

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने इसी सिलसिले में मंगलवार को सोनिया से मुलाकात की और सर्वसम्मति से तय किए गए राष्ट्रपति उम्मीदवार के प्रति अपना समर्थन व्यक्त किया। सोनिया इस सिलसिले में समाजवादी पार्टी (सपा) के नेता मुलायम सिंह यादव और राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के मुखिया लालू प्रसाद से बात की है।

इसके अलावा वह जनता दल(युनाइटेड) के नेता और बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) के मुखिया शरद पवार, मार्क्‍सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) के नेता सीताराम येचुरी और नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता उमर अबदुल्ला से भी मुलाकात कर चुकी हैं।

मौजूदा राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी का कार्यकाल जुलाई में समाप्त हो रहा है। सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेतृत्व वाली राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) सरकार ने अब तक अपने राष्ट्रपति उम्मीदवार को लेकर कोई संकेत नहीं दिया है।