7 लाख रोहिंग्या मुसलमानों को शरण देने को तैयार हुई शेख हसीना

Edited by: Editor Updated: 13 Sep 2017 | 05:07 PM
detail image

नई दिल्ली । बीते कुछ दिनो से भारत में रोहिंग्या मुसलमानों को लेकर चल रहा विवाद पूरी दुनिया में छाया हुआ है। म्यांमार से निकाले जाने के बाद बांग्लादेश में पलायन के लिए मजबूर हो रहे 7 लाख रोहिंग्या मुसलमानों को शरण देने के लिए बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना राजी हो गई है।

पीएम शेख हसीना ने कुटुपलांग के शरणार्थी शिविरों में रह रहे रोहिंग्या मुसलमानों से मिलने के लिए मंगलवार को खुद दौरा किया और उनका हाल-चाल जाना। रोहिंग्या के लिए मसीहा बनी हसीना रोहिंग्या समुदाय से मिलने के बाद शेख हसीना ने कहा कि जब हम 16 करोड़ बांग्लादेशियों को खाना खिला सकते हैं तो 7 लाख रोहिंग्या मुसलमान को भी पाल सकते है।

यह भी पढ़ें-रूस ने IS पर गिराया 'फादर ऑफ ऑल बॉम्ब' , 40 आतंकी ढेर
 

बांग्लादेश रोहिंग्या मुसलमानों को मुफ्त में जमीन देने को तैयार, इस बीच बांग्लादेश के विदेश राज्य मंत्री मोहम्मद शहरयार आलम मुफ्त में जमीन देने की योजना बना रहे हैं। हसीना ने कहा कि 'बांग्लादेश अपने पड़ोसी मुल्कों से शांति और अच्छे रिश्ते चाहता है, लेकिन म्यांमार सरकार की इन हरकतों को बिल्कुल भी स्वीकार नहीं करता। रोहिंग्या समुदाय के लिए हम वो सब कुछ करेंगे, जो हमारे बस में है'।

हसीना ने म्यांमार सरकार पर हमला बोलते हुए कहा, 'क्या ये सरकार अपना विवेक खो चुकी है, कुछ लोगों की वजह से कैसे हजारों लाखों लोगों का घर छिन रही है। साथ में हसीना ने अंतर्राष्ट्रीय समुदायों से अपील करते हुए कहा कि रोहिंग्या समुदाय को वापस उनके देश में भेजने के लिए म्यांमार पर दबाव डालना चाहिए।