मोदी कैबिनेट में हो सकता है बड़ा फेरबदल, रेल और रक्षा मंत्रालय प्रमुख

Edited by: Shiwani_Singh Updated: 23 Aug 2017 | 06:39 PM
detail image

नई दिल्ली। केंद्र की मोदी सरकार जल्द ही कैबिनेट में बड़ा फेरबदल कर सकती है। लगातार हो रहे रेल हादसों के बाद रेल मंत्री सुरेश प्रभु की इस्तीफ़े की पेशकश के बाद जल्द ही होने वाले कैबिनेट फेरबदल में उनकी छुट्टी हो सकती है।

यह भी पढ़ें-रेल हादसा: सुरेश प्रभु देना चाहते हैं इस्तीफा, PM मोदी से की मुलाकात

सूत्रों की मानें तो सरकार उनके इस्तीफ़े को रेल हादसों से जोड़कर नहीं दिखाना चाहती हैं बल्कि ऐसा शो करना चाहती हैं कि कैबिनेट फेरबदल में उनको हटाया है। वहीं, रक्षा मंत्रालय जैसे अहम पद पर भी कैबिनेट फेरबदल के दौरान निगाहें होंगी। मानसून सत्र खत्म होने के बाद से ही कैबिनेट फेरबदल की चर्चा तेज हो चुकी है।

हालांकि गुजरात राज्यसभा चुनाव आदि की वजह से फेरबदल की तारीख आगे बढ़ती रही। ऐसे में अब मोदी सरकार अपने तीसरे कैबिनेट फेरबदल के लिए तैयार है। बता दें कि अभी मोदी सरकार में ऐसे कई मंत्री हैं, जिनके पास एक से ज्यादा महत्वपूर्ण मंत्रालय है। मनोहर पर्रिकर के गोवा का मुख्यमंत्री बनने के बाद अरुण जेटली के पास वित्त और रक्षा जैसे दो बड़े मंत्रालय का भार है।

यह भी पढ़ें-एक और ट्रेन हादसा: रेलवे बोर्ड के चेयरमैन एके मित्तल ने दिया इस्तीफा

वहीं, एम वेंकैया नायडू के उपराष्ट्रपति बनाए जाने के बाद सूचना-प्रसारण मंत्रालय और शहरी विकास मंत्रालय खाली हुए है। सूचना प्रसारण का एडिशनल चार्ज कपड़ा मंत्री स्मृति इरानी को मिला, तो शहरी विकास मंत्रालय नरेंद्र सिंह तोमर को मिला है।

ऐसे में ये जिम्मेदारी मिलने के बाद नरेंद्र सिंह तोमर के पास पांच मंत्रालय हैं। वहीं, स्मृति इरानी के पास भी दो मंत्रालय का भार है। इसी तरह अनिल माधव दवे के मई में निधन के बाद से केंद्रीय विज्ञान व प्रौद्योगिकी मंत्री हर्षवर्धन उनके पर्यावरण मंत्रालय का अतिरिक्त प्रभार संभाल रहे हैं।