सोशल मीडिया पर छाया 500 और 1000 का नोट

Author: Hindi Khabar
Updated On : 2016-11-09 13:35:48
सोशल मीडिया पर छाया 500 और 1000 का नोट

नई दिल्ली। मंगलवार को पूरे भारत में 500 और 1000 के नोट बंद होने के बाद सोशल मीडिया पर यह खबर पूरी तरह छाई हुई है। कुछ लोग इसकी सराहना कर रहे हैं तो कुछ लोग जमकर इसका मजाक उड़ा रहे हैं।

सोशल नेटवर्किंग साइट फेसबुक पर एक शख्स ने लिखा है , 'दो मिनट का मौन उन पत्नियों के नाम जिन्होंने पतियों से छुपाकर 500 और 1000 के नोट इकठ्ठा किए थे। बेचारी, वो लोग तो बैंक भी नहीं जा सकती हैं।

तो वहीं कुछ लोगों ने इसको दहेज लोभियों से भी जोड़ा है, एक महिला ने लिखा है कि 'वैसे महिलाओं के साथ-साथ उन लड़कों के पिताजी की भी सांस अटक गई होगी जिन्होंने अपने समधी से कहा होगा कि भाई साहब दहेज़ में नोट सारे 500 और 1000 वाले ही चाहिए और दुर्भाग्य से वो पैसा उन्हें मंगलवार को मिल गया होगा तो वो खून के आंसू रो रहे होंगे।

एक व्यक्ति ने फेसबुक पर गांधी जी से जोड़ते हुए लिखा है, 'मैं धारक को 500 रुपए एवं 1000 रुपए अदा करने का वचन वापस लेता हूं'। वहीं दूसरी तरफ लोगों ने इसे भगवान से भी जोड़ते हुए लिखा है कि दानपेटी में 500 का नोट डालने वाले शख्स को भगवान आशीर्वाद नहीं श्राप देंगे।

कुछ लोगों ने इसे राजनीति जोड़ते हुए लिखा है, जिसकी जितनी औकाद होती है वो उतने ही बड़े फैसले लेती है, मोदी सरकार में दम था इसलिए उन्होंने 500 का नोट बंद किया वरना कांग्रेस तो 25 और 50 पैसे ही बंद करती रह गई।

इसे लोगों ने केजरीवाल से जोड़ते हुए लिखा है कि सारे लोग कह रहे थे कि सर जी कल से कुछ नहीं बोल रहे लेकिन अब पता चला कि वो मोदी के 500 का नोट बंद करने के विरोध में अपना अलग नोट छाप रहे हैं।

मोदी सरकार द्वारा कालेधन पर रोक लगाने के इस कदम की सराहना करते हुए एक छात्र ने लिखा है कि देर रात तक जिस घर की लाइट जलती हुइ दिखे समझ लो उसके घर में नोटों की गिनती चल रही है।


राष्ट्रीय पर शीर्ष समाचार