Disable ADBlock and Click Here to Reload The Page

UP विधानसभा में फिर मिला संदिग्ध पाउडर, जांच के लिए ATS को सौंपा

Edited By: Shiwani Singh
Updated On : 2017-07-15 14:07:39
UP विधानसभा में फिर मिला संदिग्ध पाउडर, जांच के लिए ATS को सौंपा
UP विधानसभा में फिर मिला संदिग्ध पाउडर, जांच के लिए ATS को सौंपा

लखनऊ। यूपी विधानभवन में विस्फोटक मिलने के बाद एटीएस और एनआईए की टीम ने जांच शुरू कर दी है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के आदेश के बाद एनआईए विस्फोटक कांड की जांच में जुट गई है। साथ ही एनआईए विस्फोटक और जैश-ए-मोहम्मद के कनेक्शन की भी जांच करेगी, क्योंकि जैश-ए-मोहम्मद ने पिछले दिनों ऑडियो टेप जारी कर दो बार योगी आदित्यनाथ को धमकी दी थी।

यह भी पढ़ें-सदन में विस्फोटक मिलना गंभीर चिंता का विषय, मामले की जांच NIA करे: CM YOGI

वहीं, एनआईए की जांच में सीसीटीवी कैमरों से विस्फोटक मामले में कोई सुराग नहीं मिला है। आप को बता दें कि विधानसभा में एक बार फिर से संदिग्ध पावडर मिला है। शुक्रवार रात सदन में जांच के दौरान सफेद पाउडर मिला था, जिसके बाद इसकी जांच के लिए इसे एटीएस को सौंपा गया है।। हालांकी अभी तक इस पावडर के विस्फोटक होने की पुष्टि नहीं हुई है।

ये पाउडर एनआईए और एटीएस की जांच में मिला है। इस वक्त एनआईए की टीम दोबारा विधानसभा में पहुंच गई है और विधानसभा को सील कर दिया गया है। किसी की भी एंट्री वहां नहीं होने दी जा रही है। इस वक्त विधानसभा में सघन जांच जारी है।

यह भी पढ़ें-सुरक्षा में चूकः UP विधानसभा में नेता विपक्ष की सीट के पास मिला विस्फोटक 

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के आदेश के बाद शुक्रवार देर रात दोनों टीमों ने विधानसभा के चप्पे-चप्पे को खंगाला। दोनों टीमें सीसीटीवी फूटेज की भी जांच कर रही हैं। इस जांच के दौरान कॉरिडोर के सीसीटीवी कैमरे खराब मिले है। हॉल के सभी 6 कैमरे चालू थे, लेकिन वो तभी तक चलते है जब तक सदन चलता है। हॉल के गेट बंद होने के बाद हाल के सीसीटीवी कैमरे बंद हो जाते हैं।

वहीं, विधानसभा में मिले विस्फोटक की दोबारा जांच होगी। NIA और सुरक्षा एजेंसियां पाउडर की दोबारा जांच हैदराबाद के CFL से कराना चाहती है। स्टेट फॉरेसिंक लैब ने इसे PETN करार दिया है। सरकार इसकी दोबारा जांच करा सकती है।

यह भी पढ़ें-विधानसभा में मिला विस्फोटक,CM YOGI ने की NIA जांच की मांग

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कल देर शाम सुरक्षा को लेकर हाई लेवल मीटिंग भी की। इसमें गृह सचिव, डीजीपी, एनआईए , एटीएस और इंटेलिजेंस पुलिस के बड़े अफसर शामिल हुए। इस मीटिंग में विधानसभा की सुरक्षा को और पुख्ता करने पर चर्चा हुई। हाल ही में आतंकी समूह जैश-ए-मोहम्मद ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ धमकी दी।

यह संदेश आतंकवादी मसूद अजहर खुद द्वारा लिखे गए हैं और उनके एक सहयोगी द्वारा ऑडियो रिकॉर्ड किया गया है। यह संदेश उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के खिलाफ नफरत से भरे थे। अपने संदेश में, भारत के सबसे ज्यादा जरूरी आतंकवादी मसूद अजहर ने प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी के हालिया इजरायल दौरे के खिलाफ गुस्सा व्यक्त किया है।

 


उत्तर प्रदेश पर शीर्ष समाचार


x