Disable ADBlock and Click Here to Reload The Page

कन्फर्म नहीं है टिकट तो टीसी भी नहीं कर सकेंगे मदद

Edited By: Editor
Updated On : 2016-10-20 11:30:59
कन्फर्म नहीं है टिकट तो टीसी भी नहीं कर सकेंगे मदद
कन्फर्म नहीं है टिकट तो टीसी भी नहीं कर सकेंगे मदद

नई दिल्ली। भारतीय रेलवे रोज ही अपने नियमों में बदलाब कर रहा है। एक बार फिर रेलवे ने अपने कुछ नियमों में फेरबदल किया है जिसका सीधा असर ट्रेन यात्रियों पर पड़ने वाला है। रेलवे नियमों में जो सबसे बड़ा बदलाव किया गया है उसके मुताबिक अब TTE (ट्रैवल टिकट एग्जामिनर) आपको खाली बर्थ पहले की तरह आसानी से अलॉट नहीं कर सकेगा।

रेलवे ने खाली बर्थ के लिए TTE के साथ होने वाली पैसे की लेनदेन को रोकने के लिए यह कदम उठाया है। इसके आलावा रेलवे ने गुम सामान को खोजने के लिए भी एक नई सुविधा की शुरुआत की है।

अक्सर ऐसा होता है कि जिन लोगों का टिकट वेटिंग में ही रह जाता है वो TTE से पता कर खाली बर्थ पर रिजर्वेशन पा लेते हैं। कई बार सामने आया है कि इस पूरी प्रक्रिया में TTE पैसों के लेनदेन को भी अंजाम देते हैं।

हालांकि रेलवे ने नियमों में ऐसा बदलाव कर दिया है जिससे अब TTE सीधे बर्थ अलॉट नहीं कर सकेंगे। अब से TTE मौजूदा स्टेशन की वेटिंग क्लियर करने के बाद अगले स्टेशन आने पर खुद ब खुद वहां से खरीदे गए टिकटों की वोटिंग क्लियर होती जाएगी। इस नियम के बाद कम कोटे वाले स्टेशन से यात्रा करने वाले लोगों को भी बर्थ मिलना पहले के मुकाबले आसान हो जाएगा।

इसे आप ऐसे समझिए कि अगर आप दिल्ली से कोई ट्रेन लेते हैं और जिस ट्रेन में आप हैं उसमें दिल्ली से 10 रिजर्व बर्थ खाली रह गई हैं तो ट्रेन के रवाना होने से पहले ही यह सभी अगले स्टॉपेज के लिए अलॉट हो जाएंगी।

अगर अगले स्टॉपेज पर भी सीट खाली रहती हैं तो फिर यह सिलसिला तब तक चलता रहेगा जब तक सभी सीटें भर न जाएं। अब TTE ट्रेन के भीतर इन्हें अलॉट नहीं कर पाएगा।

 

 


बिजनेस पर शीर्ष समाचार


x