टाटा चेयरमैन बर्खास्तगीः पीएम मोदी तक पहुंचा मामला

Edited by: Editor Updated: 26 Oct 2016 | 06:09 PM
detail image

नई दिल्ली। सायरस मिस्त्री को टाटा ग्रुप के चेयरमैन पद से हटाए जाने का मसला प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तक पहुंच गया है। सायरस मिस्त्री ने पीएम मोदी से मिलने का समय मांगा है। 

सायरस मिस्त्री को टाटा ग्रुप के चेयरमैन पद से हटाए जानेके बाद टाटा एंड संस ने नए उम्मीदवारों की खोज शुरु कर दी है। टाटा ने यह दावा किया है चार महीने के अन्दर नए चेयरमैन की नियुक्ति कर ली जाएगी। जब तक नए चेयरमैन की नियुक्ति नहीं हो जाती तब तक के लिए रतन टाटा को अंतरिम चेयरमैन बनाया गया है।

ग्रुप के चेयरमैन पद के लिए टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज (टीसीएस) के मुख्य कार्यकारी अधिकारी और प्रबंध निदेशक एन.चंद्रशेखरन और जगुआर लैंड रोवर के मुख्य कार्यकारी अधिकारी राल्फ स्पेथ के नाम सबसे आगे चल रहे हैं। दोनों को कंपनी निदेशक मंडल में डायरेक्टर नियुक्त किया गया है। इसके साथ ही टाटा संस के निदेशक मंडल में सदस्यों की कुल संख्या अब 11 हो गई है।

आपको बता दें कि ये मसला प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तक पहुंच गया है। सायरस मिस्त्री ने पीएम मोदी से मिलने का समय मांगा है। गौरतलब है कि चेयरमैन के पद पर रहते हुए मिस्त्री को राजनीतिक पकड़ मजबूत करते हुए देखा गया था। वहीं रतन टाटा ने भी मामले में पीएम को शामिल करते हुए पत्र लिखकर मिस्त्री को हटाए जाने के बारे में जानकारी दी।