किशोरी ने अपने ही पिता के खिलाफ दी गवाही, जानिए क्यों

Edited by: Priyanka Updated: 12 Jan 2018 | 05:01 PM
detail image

नई दिल्ली। आगरा में लव जिहाद एक बार फिर सुर्खियों में है। नगला देवजीत की रहने वाली नाबालिग किशोरी 31 दिसंबर से लापता थी, जिसमें परिजनों ने दो मुस्‍लिम युवकों पर थाना एत्माद्दौला में अपहरण का मुकदमा लिखाया था। इस मामले में नया मोड़ तब आया जब लड़की दीवानी में बुर्का पहनकर अपने पिता के खिलाफ बयान देने पहुंची, जहां पुलिस ने लड़की को महिला थाने भेजकर कार्रवाई शुरू कर दी है।

थाना एतमातुद्दौला के नगला देवजीत की रहने वाली नाबालिग किशोरी 31 दिसंबर से लापता थी, जिसके बाद परिजनों ने दो मुस्लिम युवकों फैजान और उसके भाई फरमान के खिलाफ अपहरण का मुकदमा दर्ज कराया था। लव जिहाद का मामला होने के कारण पुलिस के उपर भी किशोरी को बरामद करने का दबाव था।

इस मामले में नया मोड़ तब आया जब पुलिस और परिजनों को सूचना मिली कि दीवानी कचहरी में किशेरी बुर्का पहनकर अपने पिता के खिलाफ ही गवाही देने पहुंची है। सूचना पर कचहरी पहुंचे परिजनों ने ही किशोरी को पकड़कर पुलिस को सौंप दिया। इस मामले में पुलिस को आरोपी फैजान की तलाश है, जबकि फरमान को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।

नाबालिग किशोरी ने महिला पुलिस को बताया कि फैजान से उसकी दोस्‍ती फेसबुक पर हुई थी जो बाद में प्यार में बदल गई। उसने बताया कि वो फैजान के साथ शादी करना चाहती थी जिसके लिए घर से निकल भागी और अजमेर चली गई। शादी के लिए 20 हजार रुपयों की जरूरत थी लेकिन पैसे का इंतजाम ना हो पाने के कारण उसकी शादी नहीं हो पाई।

सीओ सत्ता संजय सागर ने बताया कि नाबालिग लड़की के संबंध में परिजनों ने सदर निवासी फैजान और उसके भाई फरमान के खिलाफ अपहरण का मुकदमा लिखाया था। लड़की नाबालिक है, उसका मेडिकल कराया जा रहा है, जिसके बाद उसे कोर्ट में पेश किया जाएगा।