नोटों की कमी को पूरा करने के लिए सेना ने संभाला मोर्चा

Edited by: Editor Updated: 15 Nov 2016 | 02:03 PM
detail image

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की कालेधन पर सर्जिकल स्‍ट्राइक के बाद अब आम आदमी को हो रही परेशानी दूर करने के लिए एयरफोर्स ने मोर्चा संभाल लिया है। देश के विभिन्‍न शहरों तक नए नोटों को पहुंचाने के लिए वायुसेना के ग्‍लोब मास्‍टर का सहारा लिया जा रहा है।

ग्लोबमास्टर से दूर-दराज के इलाके में लोगों और सामानों को जल्द पहुंचाने में मदद ली जाती है। ग्‍लोब मास्‍टर करीब 70 टन वजन और लगभग 150 पूरी तरह से तैयार सैनिकों को ढोने की क्षमता रखता है।

ये भी पढ़ें- सरकार का ऐलान, अब बैंकों में पहचान के लिए हाथों में लगेगी स्याही

बता दें कि नोटों को देश के विभिन्‍न शहरों तक पहुंचाने के लिए ग्‍लोब मास्‍टर को नोटों की खेप लेकर देश के विभिन्‍न हिस्‍सों के लिए रवाना कर दिया गया है। सरकारी अधिकारियों ने दावा किया है कि सोमवार रात तक सभी जगहों पर नोटों को पहुंचा दिया गया है। जिससे मंगलवार की सुबह बैंक खुलने पर नोटों की कमी न पड़े।

इससे पहले देशभर में नगदी की किल्लत और एटीएम मशीनों के ठीक से काम न करने के चलते केंद्र सरकार ने रविवार रात घोषणा की थी कि अब लोग बैंकों और एटीएम से ज्यादा पैसे निकाल पाएंगे। सरकार ने एक बैंक खाते से एक दिन में अधिकतम 10,000 रुपये निकासी की सीमा खत्म कर दी है।

ये भी पढ़ें- मंदी में कालाधन ही अर्थव्यवस्था को बचाता हैः अखिलेश यादव

गौरतलब है कि पुराने नोट बदलने की सीमा भी चार हजार रुपये से बढ़ाकर 4,500 रुपये कर दी गई। सरकार से मिली राहत के बीच सोमवार को देशभर में गुरु पर्व की छुट्टी होने के चलते बैंक बंद रहे। हालांकि लोगों ने एटीएम से पैसे निकाले। लेकिन कई जगह एटीएम पर बोर्ड टंगे नजर आए कि कैश नहीं है और जहां कैश है वहां लंबी लाइने लगी हैं।