करेंसी बैनः पर्टयकों का बुरा हाल, नहीं खरीद पा रहे हैं सामान

Author: Hindi Khabar
Updated On : 2016-11-09 17:51:38
करेंसी बैनः पर्टयकों का बुरा हाल, नहीं खरीद पा रहे हैं सामान

देहरादून। मंगलवार को पूरे देश में 500 और हजार के नोट बंद किए जाने का सबसे ज्यादा असर उत्तराखण्ड में आए पर्यटकों को हुआ है। प्रदेश में पहाड़ी क्षेत्रों का मजा लेने आए पर्यटकों की जेब में पैसे तो है लेकिन नोट बंद होने के कारण स्थानीय दुकानदार इसे लेने से मना कर रहे हैं।

प्रदेश के सभी पर्यटक स्थलों पर में इस समय लोगों की भीड़ जमा है। लेकिन नोट बंद होने के बाद से वो ना तो कुछ खरीद पा रहे है और ना ही कहीं रुक पा रहे हैं। लोग सड़कों पर बैठे हैं और कई की हालत तो ऐसी है कि रात को होटल वालों ने 500 और 1000 के नोट होने के कारण रुकवाने से ही मना कर दिया।

वहीं, दुकानदार भी ग्राहकों को लौटाते हुए दुखी हैं। इनका कहना है कि जब सरकार ने 500 और 1000 के नोट बंद कर दिए तो वे कैसे ले लें। स्थानीय दुकानदारों का कहना है कि इससे पर्यटकों को तो परेशानी हो ही रही है, साथ ही उन्हें भी नुकसान हो रहा है।

राज्य में पर्यटकों के पहुंचने से जहां सरकार खुश थी तो वहीं अब राज्य की कांग्रेस कह रही है कि मोदी जी को लोगों को आगाह करना चाहिए था कांग्रेस प्रवक्ता मनीष कंडवाल की माने तो आज उत्तराखंड में जहां पर्यटक रुके हुए हैं।


उत्तराखंड पर शीर्ष समाचार