ससुराल वालों की प्रताड़ना से तंग आकर कांस्टेबल ने लगाई फांसी

Author: Hindi Khabar
Updated On : 2016-10-22 16:10:50
 ससुराल वालों की प्रताड़ना से तंग आकर कांस्टेबल ने लगाई फांसी

नई दिल्ली। ससुराल वालों की प्रताड़ना से तंग आकर साकेत स्थित लाडो सराय में रहने वाले दिल्ली पुलिस के एक कांस्टेबल ने फांसी लगा कर आत्महत्या कर ली । कांस्टेबल सुभाष (42) का शव उसके कमरे में फांसी पर लटका मिला। पुलिस को मृतक के पास से एक सुसाइड नोट भी बरामद हुआ है। सुसाइड नोट में उसने अपनी मौत के लिए सास, ससुर और सालों को जिम्मेदार ठहराया है।

सुसाइड नोट के आधार पर पुलिस ने कांस्टेबल के दोनों साले पंकज, अमित, सास प्रेमवती और ससुर राजकुमार के खिलाफ मानसिक रूप से प्रताड़ित करने व आत्महत्या के लिए उकसाने का मामला दर्ज कर लिया है। पुलिस ने शुक्रवार को पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों को सौंप दिया। परिजनों से पूछताछ कर पुलिस मामले की छानबीन कर रही रही है।

आए दिन पति-पत्नी में होती थी अनबन

सुभाष परिवार के साथ एफ- 270, लोडा सराय में रहता था। इसके परिवार में पिता रतन सिंह, मां, दो भाई व बहन है। कुछ वर्षो से सुभाष साकेत थाने में तैनात था। वर्ष 2007 में उसकी मालवीय नगर निवासी हेमलता से शादी हुई थी। इनका छह वर्ष का एक बेटा लक्षित है।

परिजनों के मुताबिक शादी के कुछ ही दिनों बाद सुभाष व उसकी पत्‍‌नी के बीच अनबन रहने लगी। इसी दौरान हेमलता के मायके वालों ने सुभाष व उसके परिवार के खिलाफ थाने में दहेज उत्पीड़न की शिकायत भी कर दी। शिकायत के आधार पर सुभाष के खिलाफ मामला भी दर्ज हो गया।

ससुराल वालों के रवैया से परेशान था कांस्टेबल

परिवार के मुताबिक पत्‍‌नी और ससुराल वालों के रवैया से सुभाष काफी परेशान रहता था। इसी वजह से वह पिछले कुछ दिनों से थाने से भी छुट्टी पर चल रहा था। गुरुवार को शाम के समय उसका भाई दूसरी मंजिल स्थित कमरे में पहुचा तो सुभाष को पंखे से लटका पाया। मौके पर पहुची पुलिस ने शव कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा। पुलिस को सुभाष की जेब से सुसाइड नोट मिला, जिसमें उसने ससुराल वालों को मौत के लिए जिम्मेदार बताते हुए अपने घर वालों को परेशान न करने की पुलिस से गुहार लगाई।

बेटे से नहीं मिल पाने की वजह से था परेशान

झगड़े के बाद सुभाष की पत्‍‌नी हेमलता मायके में जाकर रहने लगी थी। उसका छह वर्षीय बेटा लक्षित भी उसके साथ ही रह रहा था। परिजनों का आरोप है कि हेमलता सुभाष को लक्षित से मिलने नहीं देती थी। इससे वह ज्यादा परेशान रहता था। थाने में साथ काम करने वाले सिपाहियों ने बताया कि पिछले काफी समय से सुभाष को लोगों ने हसते हुए भी नहीं देखा था।

ससुराल वालों के फिलाफ केस दर्ज

ससुराल वालों के खिलाफ मानसिक रूप से प्रताड़ित करने व आत्महत्या के लिए उकसाने का मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी गई है। जांच में मिले तथ्यों के आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी।

 


अपराध पर शीर्ष समाचार