Disable ADBlock and Click Here to Reload The Page

नोट बंद होने से लखीमपुर में 20 प्रतिशत शादियां हुईं कैंसिल

Edited By: Editor
Updated On : 2016-11-16 14:19:22
नोट बंद होने से लखीमपुर में 20 प्रतिशत शादियां हुईं कैंसिल
नोट बंद होने से लखीमपुर में 20 प्रतिशत शादियां हुईं कैंसिल

लखीमपुर खीरी। 500 और 1000 रुपए के नोट बंद होने का सबसे ज्यादा असर शादियों पर पड़ा है। अचानक नोट बंद होने से लोग शादी की तारीखों को आगे बढ़ाने में लगे हुए है।

पैसों का इंतजाम न होने से लखीमपुर खीरी में करीब 20 फीसदी शादियों की डेट निरस्त हो गई है। अब आगे का मुहूर्त देखा जा रहा है। नोटबंदी से उन युवाओं के अरमानों पर पानी फिर गया है, जिनकी शादी की तैयारियां फाइनल हो चुकी थीं।

रिपोर्ट के मुताबिक उत्तर प्रदेश में 16 नवंबर से 14 दिसंबर तक एक महीने की सहालग है। इस बीच शादी बारातों के कार्यक्रम फाइनल हो गए थे। बैंडबाजा से लेकर बारात घरों की बुकिंग और मेहमानों को निमंत्रण भी भेज दिए गए। लेकिन नोट बंद हो जाने के कारण शादी की तैयारियों को बीच में ही रोकना पड़ा है।

पुरोहितों का कहना है कि उनके पास कई लोग डेट आगे बढ़ाने के लिए आ चुके हैं। नवंबर महीने में दो चार, आठ, नौ और 12 दिसंबर को शादी के शुभ मुहूर्त हैं। इन लगनों में सभी बारातघर, बैंड बाजा, टेंट हलवाई सभी की एडवांस बुकिंग हैं। घरों में शादी की तैयारियां तेजी से चल रही थीं।

इस बीच अचानक नोट बंद होने से खुशियों पर पानी फिर गया है, इतना ही नहीं ज्यादातर बारातघरों में एडवांस बुकिंग का पैसा भी वापस नहीं किया जा रहा है।


उत्तर प्रदेश पर शीर्ष समाचार


x