Disable ADBlock and Click Here to Reload The Page

अमेरिकी थिंक टैंकों का सुझावः मोदी से 100 दिन के भीतर मिलें नए राष्ट्रपति

Edited By: Editor
Updated On : 2016-10-13 13:11:42
अमेरिकी थिंक टैंकों का सुझावः  मोदी से 100 दिन के भीतर मिलें नए राष्ट्रपति
अमेरिकी थिंक टैंकों का सुझावः मोदी से 100 दिन के भीतर मिलें नए राष्ट्रपति

वाशिंगटन। अमेरिका में राष्ट्रपति चुनाव की सरगर्मियां जोरों पर है। राष्ट्रपति का चुनाव होने में अब लगभग 100 दिन ही बचे हैं। ऐसे समय में अमेरिका के एक टॉप थिंक-टैंक ने एक ऐसी सलाह दी है जो भारत के लिए शुभ संकेत है। थिंक टैंक के मुताबिक अमेरिकी राष्ट्रपति को अपने कार्यकाल के शुरुआती 100 दिनों के अंदर ही भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात करनी चाहिए।

थिंक-टैंक का कहना है कि इस मुलाकात के द्वारा यह संकेत जाएगा कि दोनों देश अपने करीबी द्विपक्षीय संबंधों को पहले की ही लकीर पर आगे ले जाने को लेकर सहमत हैं। 'भारत-अमेरिका सुरक्षा सहयोग' नाम से तैयार की गई इस प्रमुख रिपोर्ट में सेंटर फॉर स्ट्रैटिजिक ऐंड इंटरनैशनल स्टडीज ने अगले राष्ट्रपति से अपील की है कि वह यह सुनिश्चित करें कि भारत बुनियादी संधियों पर दस्तखत करता है।

CSIS के मुताबिक, भारत और अमेरिका के सामरिक व रक्षा संबंधों को मजबूत करने में इन संधियों की अहम भूमिका है। रिपोर्ट में कहा गया है कि इन संधियों के बिना अमेरिका के लिए भारत को कुछ अति-विकसित रक्षा, कंप्यूटिंग और संचार तकनीक दे पाना लगभग नामुमकिन हो जाएगा। इसमें कहा गया है कि भारत को लगता है कि रक्षा के क्षेत्र में उसके अपने सामर्थ्य को बढ़ाने में ये तकनीक खासी अहम भूमिका निभाएंगे।

CSIS की इस रिपोर्ट में आगे कहा गया है, 'अमेरिका के अगले नेतृत्व को ऑस्ट्रेलिया, भारत और जापान के साथ मिलकर एक सुरक्षा संवाद कायम करना चाहिए। अमेरिकी स्टेट विभाग और विदेश मंत्रालय इस बातचीत का नेतृत्व करें। इसका मकसद प्रशांत महासागर और हिंद महासागरीय क्षेत्रों में साझा हितों पर ध्यान देना हो।'

रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि नए अमेरिकी राष्ट्रपति द्वारा पदभार संभालने के 100 दिनों के भीतर ही भारतीय प्रधानमंत्री से मुलाकात करने पर दोनों देशों के द्विपक्षीय संबंधों को लेकर मजबूत संदेश जाएगा।


दुनिया पर शीर्ष समाचार


x