विपक्ष के हर सवाल का जवाब देने के लिए तैयार है सरकार: किरण रिजिजू

Edited by: Editor Updated: 13 Nov 2016 | 11:37 AM
detail image

नई दिल्ली। संसद का शीतकालीन सत्र 16 नवंबर से शुरू होने वाला है, लेकिन उससे पहले नोट बंदी करने का फैसला हर राजनीतिक पार्टी के लिए मुद्दा बन गया हैं। इसी बाबत केंद्रीय मंत्री किरण रिजिजू ने कहा कि अगर कांग्रेस सदन में मुद्दा उठाना चाहती है तो ये उसकी मर्जी है। कांग्रेस का जवाब देने के लिए सरकार तैयार है।

वहीं, दूसरी ओर कांग्रेस सांसद मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा कि हर कोई कालेधन को रोकना चाहता है। जितना भी देशहित में हैं हम उसके साथ हैं। लेकिन ऐसे कई गांव हैं, जहां एटीएम नहीं है, तब लोग क्या करेंगे। एटीएम में जल्द ही 2000 रुपए के नोट मिलेंगे, लेकिन वो क्या करें, जिन्हें 500 रुपए के नोट चाहिए।

करेंसी बंदी को लेकर शुरू में फैसले का स्वागत करने वाली कांग्रेस आम आदमी पार्टी, तृणमूल कांग्रेस और बसपा के बाद अब इस मसले पर आक्रमक हो गई है। वहीं अब कांग्रेस संसद के शीतकालिन सत्र में नोटबंदी का मुद्दा उठाएगी। गौर हो कि प्रधानमंत्री मोदी ने कालाधन रखने वालों के खिलाफ और कार्रवाई की चेतावनी दी है।