शीतकालीन सत्र का दूसरा दिन, नोट बंदी पर विपक्ष कर सकता है हंगामा

Edited by: Editor Updated: 17 Nov 2016 | 08:09 AM
detail image

नई दिल्ली। करेंसी बंदी पर केंद्र सरकार को घेरने के लिए विपक्ष एकजुट होकर सरकार को सड़क से संसद तक घेरने की तैयारियां कर चुका है। बुधवार को शुरू हुए संसद के शीतकालीन सत्र के पहने दिन विपक्ष ने सदन में जमकर हंगामा किया। गुरूवार को एक बार फिर इसी मुद्दे पर हंगामा होने के आसार है।

ये भी पढ़ें: दिल्ली-एनसीआर में महसूस किए गए भूकंप के झटके

सदन में गुरूवार को भी विपक्ष नोटबंदी के मुद्दे पर सरकार को घेरने की कोशिश करेगी। बता दें कि सरकार के इस फैसले के विरोध में बुधवार को पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने संसद से राष्ट्रपति भवन तक मार्च निकाला।

ये भी पढ़ें: आ गई विदेशों में कालाधन रखने वालों की पहली सूची...

ममता बनर्जी की अगुवाई में तृणमूल के 40 सांसदों ने शिवसेना, आप और नेशनल कान्फ्रेंस के नेताओं के साथ राष्ट्रपति भवन तक मार्च निकाला और राष्ट्रपति मुखर्जी को एक ज्ञापन सौंपा।

राष्ट्रपति से मिलने के बाद ममता ने मीडिया से मुखातिब होते हुए कहा कि ‘काली योजना’ के कारण देशभर में कई लोगों की मौत हो चुकी है और सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) को दो लाख करोड़ का घाटा हुआ है।