यूपी में शौचालय भी हुआ भगवा, अखिलेश ने कहा, 'ये धर्म का अपमान है'

Edited by: Web_team Updated: 12 Jan 2018 | 03:54 AM
detail image

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में सीएम ऑफिस, थाने, सरकारी स्कूल और कई नगर निगमों की इमारतों के बाद अब शौचालय भी भगवा रंगे जा रहे हैं। स्वच्छ भारत मिशन के तहत इटावा शहर से सटे हुए गांव अमृतपुर में 350 शौचालय बनने हैं और सारे शौचालयों को भगवा पैंट करने का फैसला किया गया है।

शौचालयों भगवा रंगने पर पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने एतराज जताया है। लखनऊ में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस दौरान उन्होंने कहा, "भगवा वाले बाथरूम में कोई जाएगा तो सोचो किसका अपमान होगा? ये अपमान करने वाली सरकार है। ये धर्म का अपमान करने का काम कर रहे हैं। दीवार का रंग बदलने से विकास नहीं होगा। विकास करो तो जनता के चेहरे का रंग बदल जाएगा।"

वहीं, गांव के प्रधान वेदपाल का कहना है "भगवा कलर इसलिए चूज़ किया कि जब सरकार केन्द्र में उनकी है, राज्य में उनकी है तो गांव पंचायत में भी ये कलर आ जाए तो ये अच्छी बात है। आज सबके अंदर हिंदुत्व जाग गया है, इसलिए भी शौचालय को भगवा कर दिया गया है। अगर कोई विरोध करता है तो मैं खुले में उससे डिबेट करने के लिए तैयार हूं।"

साथ ही इटावा में जिले के जिला पंचायत राज अधिकारी रामबरन सिंह ने कहा "इस रंग में लोगों की रुचि बढ़ रही है, ये बहुत अच्छी बात है। इससे स्वच्छता की प्रेरणा मिलेगी और ये शौचालय औरों से अलग भी दिखेंगे।" बता दें कि इससे पहले हज कमेटी के कार्यालय को भगवा करने पर काफी विवाद हुआ था। हालांकि, बाद में उसका रंग पहले जैसा कर दिया गया।