तीन तलाकः मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के खिलाफ मुस्लिम महिलाओं ने छेड़ी मुहिम

Author: Hindi Khabar
Updated On : 2016-11-20 20:20:11
तीन तलाकः मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के खिलाफ मुस्लिम महिलाओं ने छेड़ी मुहिम

नई दिल्ली। समान नागरिक संहिता और तीन तलाक के मुद्दे पर सरकार के रुख के विरोध में ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड की ओर से चलाए जा रहे हस्ताक्षर अभियान के खिलाफ अब भारतीय मुस्लिम महिला आंदोलन (बीएमएमए) ने मुहिम शुरू की है जिसका मकसद मुस्लिम समुदाय खासकर मुस्लिम महिलाओं को तीन तलाक के मुद्दे पर बोर्ड की गुमराह करने वाली कोशिश के खिलाफ जागरूक करना है।

मुस्लिम महिलाओं के सशक्तिकरण की पैरोकार संस्था बीएमएमए की सह-संस्थापक जकिया सोमन ने मीडिया से कहा कि पर्सनल लॉ बोर्ड हस्ताक्षर अभियान के माध्यम से मुस्लिम समुदाय को गुमराह करने की कोशिश कर रहा है।

यह भी पढ़ें- कालाधन रखने वालों की सारी जिंदगी तबाह हो गई हैः पीएम मोदी

हमने उसकी इस कोशिश को नाकाम करने के लिए प्रदेश स्तर और जिला स्तर की अपनी इकाइयों के माध्यम से मुहिम शुरू की है। हम मुस्लिम समुदाय खासकर मुस्लिम महिलाओं को जागरूक कर रहे हैं कि वे बोर्ड के बहकावे में नहीं आएं।

यह भी पढ़ें- लड़की का पत्र पढ़कर भावुक हुए मोदी, खुद किया फोन

गौरतलब है कि पिछले महीने विधि आयोग ने समान नागरिक संहिता और तीन तलाक सहित कुछ बिंदुओं पर लोगों की राय मांगते हुए एक प्रश्नावली जारी की थी। दूसरी तरफ, केंद्र सरकार ने उच्चतम न्यायालय में दायर हलफनामे में तीन तलाक की प्रथा का विरोध किया और कहा कि दुनिया के कई मुस्लिम देशों में इस व्यवस्था को खत्म किया जा चुका है।


राष्ट्रीय पर शीर्ष समाचार