डोनाल्ड ट्रंप के शपथ लेते ही 'ट्रांस पैसिफिक पार्टनरशिप' से बाहर होगा अमेरिका

Edited by: Editor Updated: 22 Nov 2016 | 04:50 PM
detail image

वाशिंगटन। अमेरिका के नवनिर्वाचित राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने अपने कार्यकाल के पहले ही दिन ट्रांस पैसिफिक पार्टनरशिप (टीपीपी) से अमेरिका का नाम वापस लेने का संकल्प लिया। ट्रंप ने इस साझेदारी को देश के लिए संभावित आपदा करार दिया है।

यह भी पढ़ें- भारत ने संयुक्त राष्ट्र में मौत की सजा पर रोक का किया विरोध

अमेरिका का राष्ट्रपति चुने जाने के बाद अपने पहले वीडियो संदेश में ट्रंप ने उन ठोस कदमों को रेखांकित किया जो वह नुकसान पहुंचाने वाली चीजों को वाशिंगटन डीसी से दूर करने और व्यापार, ऊर्जा, विनियमन, राष्ट्रीय सुरक्षा, आव्रजन और नैतिकता में सुधार के मामलों पर ध्यान केंद्रित कर अमेरिका को पहले रखने के लिए उठाएंगे।

यह भी पढ़ें- पाकिस्तान पहुंचा ISISI का जाल, लड़ाकों को कर रहा तैयार

ट्रंप ने कहा, ‘मेरा एजेंडा सरल मूल सिद्धांतों पर केंद्रित होगा और वह है,अमेरिका को पहले रखना। भले ही वह इस्पात पैदा करने, कार निर्माण या बीमारियों का उपचार करने की बात हो, मैं चाहता हूं कि अगली पीढ़ी जो उत्पादन एवं नवोन्मेष करे, वह यहां हमारे महान देश अमेरिका में हो जिससे अमेरिकी कर्मियों के लिए धन एवं नौकरियां पैदा हों।

यह भी पढ़ें- नोटबंदी कालेधन का समाधान नहीं: मोहम्मद यूनुस

ट्रंप ने उनकी ओर से उठाए जाने वाले कुछ अहम कदमों का जिक्र करते हुए कहा कि इस योजना के तहत मैंने अपने सत्ता हस्तांतरण दल से कार्यकारी कदमों की एक सूची तैयार करने को कहा है जो हम हमारी नौकरियां वापस लाने और हमारे कानूनों की पुन: स्थापना के पहले दिन उठा सकते हैं।