वोडाफोन इंडिया और आइडिया सेल्युलर के विलय का हुआ ऐलान

Edited by: Shiwani_Singh Updated: 20 Mar 2017 | 11:28 AM
detail image

नई दिल्ली। वोडाफोन इंडिया और आइडिया सेल्युलर का आपस में विलय ऐलान कर दिया गया है। वोडाफोन बोर्ड ने सोमवार को विलय के प्रस्ताव पर मुहर लगा दी। वोडाफोन पीएलसी ने आइडिया सेल्युलर के साथ विलय का ऐलान कर दिया।

यह भी पढ़ें-बिजनेस केंद्र ने 10 बैंकों से कर्मचारियों की सुविधा में कटौती करने के दिए निर्देश

आइडिया सेलुलर बोर्ड ने वोडाफोन इंडिया लिमिटेड और इसके पूर्ण स्वामित्व वाली वोडाफोन मोबाइल सर्विसेज के कंपनी के साथ विलय को मंजूरी दी।
इसके तहत वोडाफोन इंडिया और इसके पूर्ण स्वामित्व वाली सहायक कंपनी वोडाफोन मोबाइल सर्विसेज लिमिटेड का आदित्य बिड़ला ग्रुप के आइडिया सेल्युलर में विलय हो जाएगा।

आइडिया और वोडाफोन की विलय प्रक्रिया अगले साल तक पूरी हो जाएगी। नई कंपनी में वोडाफोन की हिस्सेदारी 45 प्रतिशत जबकि आइडिया की हिस्सेदारी 26 प्रतिशत होगी। आगे जाकर आदित्य बिड़ला ग्रुप और वोडाफोन का हिस्सा बराबर हो जाएगा। आइडिया का वैल्युएशन 72,2000 करोड़ रुपया होगा।

यह भी पढ़ें-पेट्रोल पंप मालिकों ने सफेद किया काला धन, IT ने बिठाई जांच

आइडि‍या ने कहा है कि नई कंपनी में वोडाफोन के पास 45% हि‍स्‍सेदारी होगी। वहीं, आइडि‍या के पास 26% हि‍स्‍सेदारी होगी। आइडि‍या ने यह भी कहा है कि वोडाफोन करीब 4.9% हि‍स्‍सेदारी आइडि‍या प्रोमोटर्स को ट्रांसफर करेगी। माना जा रहा है कि यह टेलि‍कॉम इंडस्‍ट्री की सबसे बड़ी डील है। मर्जर हुई कंपनी में वोडाफोन 50% हि‍स्‍सेदारी ट्रांसफर करेगी।