Disable ADBlock and Click Here to Reload The Page

क्या सीएम योगी 17 साल बाद सुलझेगा परिसंपत्ति विवाद ?

Edited By: Ankur Maurya
Updated On : 2017-11-15 16:59:32
क्या सीएम योगी 17  साल बाद सुलझेगा परिसंपत्ति विवाद ?
क्या सीएम योगी 17 साल बाद सुलझेगा परिसंपत्ति विवाद ?

उत्तराखंड के बीच 17 साल से चले आ रहे परिसंपत्ति विवाद के सुलझने की उम्मीद बढ़ गई है। दोनों प्रदेशों में बीजेपी की सरकार है और इस बीच यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ और उत्तराखंड के सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत की मुलाकात से उम्मीद जगी है कि अब परिसंपत्ति विवाद सुलझ जाएगा।

इस दफा सीएम योगी ने संपत्ति बंटवारे को लेकर उत्तराखण्ड के प्रति बड़ी सहानभूति भी दिखाई है। ऐसे में माना जा रहा है कि जल्द ही परिसंपत्तियों के निस्तारण पर अंतिम फैसला ले लिया जाएगा। यूपी और उत्तराखंड दोनों जगहों पर बीजेपी की सरकार बनने के बाद इन दोनों प्रदेश के बीच लंबित परिसंपत्तियों के बंटवारे का मसला सुलझता हुआ दिखाई दे रहा है।

दोनों मुख्यमंत्री की लखनऊ में हुई इस बैठक में परिसंपत्तियों के बटवारे को लेकर सकारात्मक चर्चा हुई है। हिन्दी खबर के सूत्रों के मुताबिक हरिद्वार स्थित अलकनंदा रिजॉर्ट को उत्तराखंड को देने पर सहमति बनी है। सीएम योगी ने हरिद्वार के अलकनंदा होटल के मसले पर उत्तराखंड के तर्क पर सहमति जताई है और उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे इस संबंध में भारत सरकार के आदेश का अनुपालन करें।

इस बैठक में यह भी निर्णय लिया गया है कि परिसंपत्तियों के अन्य लंबित प्रकरणों पर दोनों ही प्रदेशों के मुख्य सचिवों के बीच जल्द बैठक होगी और इस बैठक के बाद परिसंपत्तियों के निस्तारण पर अंतिम निर्णय ले लिया जाएगा।

दरअसल राज्य गठन से लेकर अब तक उत्तराखण्ड की कई संपत्तियों पर यूपी का कब्जा चल रहा है।17 सालों से उत्तराखण्ड की सरकारें अपनी संपत्ति पाने के लिये जद्दोजहद करती रही हैं, लेकिन अभी तक कोई सफल नहीं हो पाया है। देखिए किन-किन संपत्तियों पर यूपी का इस वक्त कब्जा है।


उत्तराखंड पर शीर्ष समाचार


x